एक बेटे कि चाहत में ऑटो ड्राइवर बन गया 7 बच्चो का बाप, 3 बेटियों के बाद महिला ने एकसाथ जन्मे 4 बच्चे

दोस्तों कहते है कि आज कल बेटिया किसी भी लडको से कम नही है क्योकि चाँद पर सबसे पहले पहुचने वाली लड़की ही थी और ये पढ़ाई से लेकर राजनीति तक का सफर भी तय कर चुकी  है क्योकि आज की बेटिया लडको से कदम से कदम मिलाकर चल रही है इतना सब कुछ होने के बावजूद आज भी कुछ लोगो को लडकियों की चाह नही है इसीप्रकार से सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरे वायरल हुयी है जो ऑटो चलाने वाले घर की है इसके घर में 3 लड़किया है फिर भी इसको बेटे की चाह है बेटे की चाह में ये सात बच्चो का पिता बन गया क्योकि इनकी पत्नी ने 3 लड़किया और 1 लड़के को जन्म एक साथ दिया .जिसके कारण यह खबर हवा की तरह चारो और फ़ैल गयी अगर आप अभी लोग इसके आगे जानना चाहते हो तो पोस्ट के अंत तक बने रहे.

महिला ने एक साथ दिया 4 बच्चों को जन्म:-

दोस्तों आगरा के थाना एत्माद्दौला के प्रकाश नगर की रहने वाली मनोज कुमार की पत्नी खुशबू को कुछ दिन पहले आगरा ट्रांस यमुना कॉलोनी रामबाग के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। महिला ने एक साथ 4 बच्चों को जन्म दिया है। महिला ने 3 लड़कियों और 1 लड़के को जन्म दिया है। यह डिलीवरी आसान नहीं थी। डॉक्टर ने बताया कि प्रीमेच्योर डिलीवरी होने की वजह से बच्चों का पूर्ण विकास नहीं हुआ। ऐसे में इनको नवजात सघन चिकित्सा कक्ष में भर्ती कर उपचार किया जा रहा है।

ऑटो ड्राइवर हैं पिता:-

पहले से हैं तीन बेटियां बच्चों के पिता मनोज कुमार ऑटो ड्राइवर हैं। मनोज ने बताया कि पत्नी के प्रसव पीड़ा होने पर यमुनापार के प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया था। यहां अल्ट्रासाउंड कराने पर डॉक्टर ने गर्भ में चार बच्चे बताए थे। मनोज के पहले से तीन बच्चे हैं और तीनों बेटियां हैं।

अस्पताल के डायरेक्टर ने कहा:-

मैं करूंगा आर्थिक सहायता मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अस्पताल के डायरेक्टर महेश चौधरी ने बताया कि उन्हें हॉस्पिटल का संचालन करते हुए 10 साल हो गए हैं, लेकिन आज तक ऐसा चमत्कार नहीं देखा। उन्होंने कहा कि वह इन बच्चों की देखभाल खुद करेंगे। अगर परिवार को किसी आर्थिक सहायता की जरूरत होगी, तो वह भी करेंगे। साथ ही, बच्चों की पढ़ाई-लिखाई का इंतजाम भी किया जाएगा।

Leave a comment

Your email address will not be published.