उत्तर प्रदेश कि इस दूकान में मिलती है 50 हजार रुपये किलो की मिठाई,विदेशो से भारी मांग,रोज बिकती लाखो कि मिठाई

दोस्तो कुछ मिठाई सभी को पसंद होती है किसी को कम तो किसी को ज्यादा ।दुनिया में कई अलग अलग तरह की मिठाइयां बनाई जाती है । उस मिठाई के स्वाद , क्वालिटी उसमे इस्तेमाल किए जाने वाले समान और मेहनत को ध्यान में रखते हुए उसकी कीमत होती है यदि आपसे पूछा जाए आपने ज्यादा से ज्यादा कितनी कीमत की मिठाई खाई है तो आप कितनी बताओगे 2000 -4000 रुपए या चलो मान लेते है 5000 हजार रुपए किलो इससे ज्यादा कीमत तो किसी मिठाई की नही होगी । लेकिन हम आपको बता दे एक मिठाई है जिसकी कीमत पूरे 50000 रुपए किलो है अब आप सोच रहे होंगे उस मिठाई में ऐसा भी क्या है जो इसकी कीमत इतनी है तो ये जानने के लिए लेख को अंत तक जरूर पढ़े

क्या आपने कभी 50 हजार रुपये किलो की मिठाई खाई है? ये मिठाई मिलती है नवाबों के शहर लखनऊ में जहां इसे चौबीस कैरेट सोने से बनाया जाता है। लखनऊ के सदर बाजार में छप्पन भोग मिठाई की दुकान पर साल 2009 से ये मिठाई बन रही है। पचास हजार रुपये किलो की ये मिठाई यूपी के साथ-साथ पूरी दुनिया में फेमस है। इस मिठाई का नाम एग्जॉटिका है। इस मिठाई की खास बात ये है कि इसको बनाने का तरीका और इसको बनाने में इस्तेमाल होने वाला सामान दोनों ही बहुत खास है।

इस मिठाई को बनाने में जो ड्राई फ्रूट इस्तेमाल होता है उसे दुनियाभर के अलग-अलग कोनों से मंगवाया जाता है। ये मिठाई इतनी पॉपुलर है कि देश ही नहीं बल्कि विदेशों से भी इसकी डिमांड आती है। दुकान के मालिक बताते है कि देश विदेश मिलाकर हर रोज करीब चार डिब्बा मिठाई रोज बिक जाती है। मतलब दो लाख रुपये की चार किलो मिठाई रोज बिकती है।

इस मिठाई को बनाने में साउथ अफ्रीका के मैकाडामिया नट, किन्नौर के पाइन नट, ईरान के मामरा बादाम, यूएसए की ब्लूबेरी, अफगानिस्‍तान के पिस्ते, टर्की के हेजलनट और कश्‍मीरी केसर का इस्तेमाल किया जाता है। इन सब चीजों के अलावा इसमें 24 कैरेट सोने का भी इस्तेमाल होता है। 50 हजार रुपये किलो बिकने वाली इस मिठाई में 100 पीस होते हैं। जो लोग पूरे एक किलो मिठाई नहीं ले पाते वो 2-2 हजार वाले बॉक्स खरीदते हैं इस बॉक्स में चार पीस मिठाई होती है।

त्योहारों के सीजन में छोटे-छोटे बॉक्स की डिमांड काफी बढ़ जाती है वहीं आर्डर पर ही बड़े एक किलो के डिब्बे बनाए जाते हैं। इस मिठाई की डिमांड लंदन, यूएस और दुबई से भी आती है। सदर छप्पन भोग के मार्केटिंग हेड के मुताबिक 2009 में इस मिठाई को पहली बार आर्डर पर बनवाया गया था।

एक ग्राहक आया जिसने कहा कि उसे ऐसी मिठाई चाहिए जो आज तक किसी ने ना खाई हो। उसने ये भी कहा कि उसे पैसों की चिंता नहीं है लेकिन मिठाई सबसे अलग और अनोखी होनी चाहिए। इसके बाद पहली बार दुनिया की अलग-अलग चीजों से मिलाकर एग्जॉटिका बनाई गई। इस शब्द का मतलब ही होता है सबसे अलग और आकर्षक।

Leave a Reply

Your email address will not be published.