दुबई जा रही एयर इंडिया की फ्लाइट में जलने की दुर्गन्ध फैली, तुरंत ओमान कि तरफ उई डायवर्ट

दोस्तो आपने बहुत बार ऐसी खबरे सुनी होगी जिसमे विमानों में तकनीकी खराबी होने की बात सामने आई हो ।कई बार ऐसी स्थिति में बड़े हादसे भी हो चुके है ।लेकिन इन दिनो ऐसे मामले ज्यादा बढ़ते जा रहे है ।हर थोड़े दिन बाद विमानों में कुछ न कुछ खराबी की वजह से कोई न कोई घटना घट जाती है ।इसी के चलते एक बार फिर से विमान में तकनीकी खराबी होने की खबर सामने आई है ।इस बात का पता चलते ही क्या एक्शन लिया गया जानने के लिए खबर को अंत तक जरूर पढ़े।

भारतीय विमानों में लगातार तकनीकी खराबी की घटनाएं सामने आ रही हैं. पिछले कुछ दिनों में इन घटनाओं में काफी बढ़ोतरी देखी गई है. एक बार फिर विमान में तकनीकी खराबी की बात पता चली है.डायरेक्टर जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) ने बताया कि एयर इंडिया एक्सप्रेस एयरक्राफ्ट की दुबई जा रही फ्लाइट को तकनीकी खराबी के बाद मस्कट की ओर डायवर्ट किया गया है. डीजीसीए ने जानकारी देते हुए बताया कि फॉरवर्ड गैली में एक वेंट से जलने की गंध आ रही थी, जिसके बाद यह फैसला लिया गया.

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, डीजीसीए (Directorate General of Civil Aviation) ने बताया कि एयर इंडिया एक्सप्रेस विमान (VT-AXX) के तहत, जिस फ्लाइट का संचालन किया जा रहा था. उस फ्लाइट की संख्या IX-355 है. यह फ्लाइट कालीकट (केरल) से दुबई जा रही थी. इसी बीच, विमान के फॉरवर्ड गैली के वेंट से जलने की गंध आने लगी, जिसके बाद संभावित खतरे को भांपते हुए विमान को मस्कट (ओमान) की ओर डायवर्ट कर दिया गया.

इंडिगो फ्लाइट की कराची में हुई इमरजेंसी लैंडिंग

गौरतलब है कि रविवार को पाकिस्तान के कराची एयरपोर्ट पर इंडियन एयरलाइंस के विमान की इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई. इंडिगो एयरलाइंस की फ्लाइट शारजाह से हैदराबाद डेक्कन जा रही थी. इंडियन इंडिगो एयरलाइंस की फ्लाइट के कैप्टन ने कराची एयर ट्रैफिक कंट्रोल से इमरजेंसी लैंडिंग की इजाजत मांगी, जिसके बाद विमान की सुरक्षित लैंडिंग कराई गई. विमान में 180 यात्री सवार थे. फ्लाइट में मौजूद सभी भारतीय यात्रियों को कराची एयरपोर्ट के ट्रांजिट लाउंज में स्थानांतरित कर दिया गया, जहां यात्रियों को नाश्ता भी उपलब्ध कराया गया.

इससे पहले, इंडिगो की दिल्ली-वड़ोदरा फ्लाइट का रूट 14 जुलाई को एहतियात के तौर पर जयपुर की ओर डायवर्ट किया गया था, क्योंकि विमान के एक इंजन में कंपन देखा गया था. अधिकारियों ने बताया कि नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) दोनों घटनाओं की जांच कर रहा है. इंडिगो की प्रतिस्पर्धी एयरलाइन स्पाइसजेट अभी डीजीसीए की जांच के दायरे में है. डीजीसीए ने 19 जून के बाद से तकनीकी खामियों की कम से कम आठ घटनाओं के बाद छह जुलाई को स्पाइसजेट को कारण बताओ नोटिस भेजा था.

 

Leave a comment

Your email address will not be published.