शाहरुख के फिल्म डायरेक्टर ने बताई बॉलीवुड के डूबने कि बजह,बोला घमंड करेंगे तो कैसे बचेंगे

दोस्तो हर इंसान मेहनत और संघर्ष से सफलता के मुकाम तक पहुंचता है । लेकिन अपने मुकाम पर पहुंच कर उस इंसान को ये नही भूलना चाहिए कि उसने शुरुआत कहां से की थी ।जब इंसान तरक्की कर लेता है तो उसमे गरुर आने लगता है और उसे अपने अलावा कोई और नहीं दिखता तो आपको बता दे एक न एक दिन घमंड टूटता जरूर है ।इसका उदाहरण आप देख ही सकते है।आज बॉलीवुड का जो हाल है इसका सबसे बड़ा कारण घमंड को माना जा रहा है ।

पहले अक्षय कुमार और रणवीर सिंह की फिल्में, फिर रणबीर कपूर के चार साल बाद कमबैक के बावजूद शमशेरा का डूबना और अब आखिरकार आमिर खान जैसे सुपरस्टार की लाल सिंह चड्ढा का लंबे वीकेंड में भी 50 करोड़ रुपये का आंकड़ा न छू पाना, बॉलीवुड के लिए गहरी निराशा का कारण है. इन हादसों के पीछे जो कारण गिनाए जा रहे हैं, उनमें से एक यह है कि बॉलीवुड सितारों को बहुत घमंड हो गया था और वह अपने आप को भगवान से कम नहीं समझ रहे थे. ऐसे में जनता जनार्दन उन्हें सबक सिखा रही है.

ट्वीट में कही अपनी बात

फिल्म इंडस्ट्री में सब लोग भले ही इस बात को स्वीकार नहीं कर रहे, लेकिन लगता है कि धीरे-धीरे अहंकार की बात पर विचार मंथन शुरू हो गया है. इसे आगे शायद खुल कर स्वीकार भी किया जाएगा. शाहरुख खान जैसे सुपरस्टार को लेकर फिल्म रईस बनाने वाले निर्देशक राहुल ढोलकिया से इसकी शुरुआत हो गई है. ढोलकिया ने आज ट्विटर पर लिखा कि पांच ऐसी बात हैं, जिन पर बॉलीवुड गौर और सुधार करे तो स्थितियां संभवतः बदल सकती हैं. राहुल ने अपने ट्वीट में लिखा कि फिल्म इंडस्ट्री को मेरी पांच सलाह हैं. उन्होंने जो सलाह दी हैं, उनमें शामिल हैः
1. अच्छी फिल्में बनाएं.
2. फिल्म निर्माण की लागत कम करें.
3. फिल्मों की टिकट दर बहुत कम करने की जरूरत है.
4. फिल्म को कम से कम तीन महीने तक ओटीटी पर रिलीज न करें.
5. घमंडी न बनें. सबको साथ लेकर चलें.
इसके बाद उन्होंने लिखा कि शायद ये बातें बॉलीवुड की कुछ मदद कर सकती हैं.

बॉलीवुड चुप, मगर लोग बोले

राहुल ढोलिकिया की बात पर फिलहाल बॉलीवुड से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है. लेकिन ट्विटर पर आम लोगों ने ढोलकिया की बातों का स्वागत किया है. कई लोगों ने कहा कि पहली बार फिल्म इंडस्ट्री का कोई व्यक्ति बायकॉट बॉलीवुड मुहिम को फिल्में फ्लॉप होने का दोष न देते हुए, ईमानदारी से सच्चाई स्वीकार रहा है. कई लोगों ने यह भी कहा कि इन बातों में बॉलीवुड को सनातन संस्कृति और हिंदू धर्म का मजाक उड़ाना बंद करना पड़ेगा. किसी ने कहा कि बॉलीवुड को अब फिल्मों के रीमेक और नकल बंद करके ओरीजनल आइडियों पर काम करके फिल्में बनाना चाहिए. कई लोगों ने यह भी स्पष्ट कहा कि बॉलीवुड वालों को नेपोटिज्म भी बंद करना पड़ेगा.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.