7वीं क्लास में ही एक्ट्रेस ने लड़के को लव लेटर लिख कर किया था प्यार का इज़हार, पेरेंट्स के हाथ लगा तो खूब हुई पिटाई

दोस्तो साउथ इंडस्ट्री की फेमस अभिनेत्री साई पल्लवी बेहतरीन अभिनेत्री के साथ साथ कमाल की नर्तकी भी है । साई पल्लवी तमिल, तेलुगू और मलयालम फिल्मों में अभिनय करती है । साई ने अपने अभिनय और खूबसूरती से लाखो को दीवाना बना दिया ।इसके अलावा अभिनेत्री साई अपने बयानों की वजह से भी सोशल मीडिया पर सुर्खियो में रहती है ।इन दिनो भी साई इंटरव्यू में अपने एक किस्से को लेकर खूब सुर्खियों में है ।क्या है वो किस्सा जानने के लिए लेख को अंत तक जरूर पढ़े।

साउथ ऐक्ट्रेस बीते दिनों कश्मीरी पंडितों और मॉब लिंचिंग पर अपने बयान को लेकर सुर्खियों में थीं। रीसेंटली उन्होंने एक मजेदार किस्सा सुनाया है। साई ने बताया कि जब वह स्कूल में थीं तो स्कूल के एक लड़के को लव लेटर लिखा था। उनके पेरेंट्स को यह लव लेटर मिल गया था। इसके बाद उनकी जबरदस्त पिटाई हुई थी। साई फिल्म Virata Parvam में हैं। उनके किरदार का नाम वेन्नेला है और वह राना दग्गुबाती को लेटर देने के लिए जान जोखिम में डालती हैं। हालांकि असल जिंदगी में पिटाई के बाद उन्होंने दोबारा कभी लेटर लिखने की कोशिश नहीं की।

7वीं क्लास में थीं साई

साई पल्लवी ने नेटफ्लिक्स के यूट्यूब चैनल माई विलेज शो में इस घटना का खुलासा किया। उनसे पूछा गया कि फिल्म में जो लेटर उन्होंने लिखे वे असली थे या सिर्फ ऐक्टिंग थी। इस पर साई ने जवाब दिया, फिल्म में तो मैंने डायरेक्टर के इंस्ट्रक्शंस के हिसाब से लेटर लिखे थे। हालांकि असल जिंदगी में, मैंने लेटर सिर्फ एक बार लिखा है। बचपन में मैंने एक लड़के को लेटर लिखा था। शायद उस वक्त मैं 7वीं क्लास में रही होऊंगी। मैं पकड़ी गई और मेरे पेरेंट्स ने मेरी जबरदस्त पिटाई की थी।

बॉक्स ऑफिस पर नहीं चली फिल्म

जब यही सवाल को-स्टार राना दग्गुबाती से किया गया तो उन्होंने बताया, एक लेटर तो उन्होंने अपने दिवंगत दादाजी दग्गुबाती रामानायडू को लिखा था। राना नने बताया कि लेटर बचपन में लिखा था। इसके बाद किसी को लेटर नहीं लिखा। फिल्म विराट पर्वम 17 जून को थिएटर्स में रिलीज हो चुकी है। हालांकि बॉक्स ऑफिस पर कुछ खास कमाल नहीं कर पाई। 1 जुलाई से मूवी नेटफ्लिक्स पर देखी जा रही है। वहीं साई पल्लवी बीते दिनों अपने एक बयान को लेकर सुर्खियों में थीं। इसमें उन्होंने मॉब लिंचिंग की तुलना कश्मीरी पंडितों की हत्या से की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.