अपने प्यार को पाने कि खातिर रुपाली गांगुली को करना पड़ा 12 साल का लंबा इंतजार और फिर 15 मिनट में रचा ली शादी,

दोस्तो जैसा की सभी को मालूम है बॉलीवुड में हालही में बहुत सी शादियां हुई है और आने वाले कुछ समय बहुत सी शादियां होने वाली भी है ।इसी के चलते पंजाबी सिंगर मीका सिंह को भी अपने लिए दुल्हन की तलाश है ।उनकी ये तलाश जल्दी ही खत्म होने वाली है मीका को स्वयंवर शो मीका दी वोटी में जल्दी ही कोई लड़की मिल जाएगी जिसके साथ वे अपना घर बसाएंगे।लड़की तलाश करने में बहुत से सितारे मीका की मदद भी कर रहे है ।इस बार मीका की मदद के लिए टीवी स्टार रूपाली गांगुली शो पर मेहमान बन कर आई जहां उन्होंने अपनी शादी से जुड़े एक राज का खुलासा किया । क्या है वो राज जानने के लिए लेख को अंत तक जरूर पढ़े।

रुपाली को स्वयंवर शो के मेहंदी एवं हल्दी स्पेशल एपिसोड में विशेष रूप से आमंत्रित किया गया था। रुपाली ने टॉप 3 ब्राइड्स टू बी नीत महल, अकांक्षा पुरी एवं प्रांतिका दास की शादी की रस्में आरम्भ कीं।वही इसके चलते रुपाली ने खुलासा किया कि उनकी शादी जल्दबाजी में हुई थी। वे बोलती हैं- मेरी शादी थोड़ी अलग थी। मैंने अपने पति का 12 वर्षों तक इंतजार किया। वो अमेरिका में थे और मैं भारत में रहना चाहती थी। वो 4 फरवरी को आए और  कहा- परसों शादी कर लेते हैं। मैं तब डेली सोप  कर रही थी। मैंने 2 दिन की छुट्टी मांगी। मैंने प्रोड्यूसर को बोला तथा उन्होंने कहा- तुम्हारा ट्रैक चल रहा है, तुम कैसे छुट्टी ले सकती हो। क्यों तुम्हें छुट्टी चाहिए? तब मुझे अपनी शादी की बात बतानी पड़ी। हमने अपने माता-पिता को बताया। मैं बहुत दुखी थी कि शादी की कोई रस्में नहीं होंगी। मैंने अपने एपिसोड के लिए शूट किया तथा 2 दिन छुट्टी ली।

तत्पश्चात, रुपाली गांगुली ने बताया- कैसे उनकी शादी में परिवार के लोगों से ज्यादा मेहंदी आर्टिस्ट थे। मैंने अपने कंधों तक मेहंदी लगवाई, प्रातः 4 बजे तक मेहंदी का फंक्शन चला। इसके साथ हल्दी की रस्में भी हुईं। वक़्त नहीं था। 6 फरवरी को रजिस्टारर को आना था। मैं गई और प्रातः वेडिंग साड़ी खरीदी। मैंने उन्हें एक ब्लाउज दिया और कहा इसके हिसाब की साड़ी दे दो। मेरे पति लेट हो गए। वे शर्ट और जीन्स में शादी करने आए। उन्हें लगा बस साइन करने हैं। मेरे पिता ने मुझे 15 मिनट पहले कहा कि वो कन्यादान करना चाहते हैं। वहां कोई पंडित नहीं था। जैसे तैसे हमने पंडित अरेंज किया जो कि हमसे भी अधिक व्यस्त थे। मेरे पति अश्विन ने अपनी कार भी पार्क नहीं की थी कि पंडित आए तथा मंत्र बोलने लगे। तो मेरी शादी 15 मिनट में हुई। 4 घंटे में मेहंदी मगर मुझे पति के रुप में बेहतरीन इंसान मिला।

 

Leave a comment

Your email address will not be published.