तेंदुलकर ने न सही लेकिन इन्होंने सुन ली वेस्टइंडीज के क्रिकेटर की भावुक अपील, मदद का बढ़ाया हाथ

दोस्तों हमारे देश में बहुत से क्रिकेटर है कुछ सफल हो जाते है और कुछ असफल हो जाते है इसीप्रकार से कुछ ऐसे भी क्रिकेटर है जिनको क्रिकेट के भगवान का दर्जा दिया गया है. अभी जल्द ही एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमे एक पूर्व क्रिकेटर बहुत सारे खिलाडियों से  मदद माग रहे है लेकिन उनकी मदद के लिए कोई भी अपना हाथ आगे को नही बढ़ा रहा है वही कुछ दिनों के बाद एक बहुत बड़ी कम्पनी ने अपना हाथ आगे को बढ़ाया .आख़िरकार में पूर्व क्रिकेटर को किस चीज की मदद चाहिए थी अगर आप सभी लोग जानना चाहते हो तो पोस्ट के अंत तक बने रहे.

प्यूमा ने सोशल मीडिया पर बेंजामिन की हरसंभव मदद करने का वादा किया है। प्यूमा क्रिकेट ने ट्विटर पर लिखा, “हम आपको सुनते हैं, विंस्टन। आइए इन बच्चों की मदद करें। बता दें, वरिष्ठ खेल पत्रकार विमल कुमार ने भारत के वेस्टइंडीज दौरे पर एंटीगा में सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम के बाहर विंस्टन बेंजामिन से मुलाकात की थी और उनका एक वीडियो भी शूट किया था। इस वीडियो में उन्होंने सचिन, अजहरुद्दीन या कोई भी आईपीएल खेलने वाले क्रिकेटर तक उनकी बात पहुंचाने की गुहार लगाई थी।

बेंजामिन ने कहा कि उन्हें पैसे या कोई और चीज नहीं चाहिए बल्कि ऐसी चीज चाहिए जिससे कैरेबियन में क्रिकेट का भला हो। बेंजामिन ने कहा, ‘पहले शारजाह या अन्य देशों में कई देशों के क्रिकेटर सहायता मैच खेला करते थे। मुझे कोई बेनीफिट नहीं चाहिए। मुझे ऐसे लोग चाहिए जो खेल का कुछ सामान भेज दें। 10-15 बल्ले भेज दें। और मुझे 20 हजार अमेरिकी डॉलर नहीं चाहिए। मुझे सिर्फ सामान चाहिए ताकि मैं युवाओं को ट्रेनिंग देता रहूं।’

उन्होंने तेंदुलकर से खास तौर पर अपील की, “मिस्टर तेंदुलकर अगर आप इस पोजिशन में हैं तो मेरी मदद कीजिए।” इसके साथ ही उन्होंने मोहम्मद अजहरुद्दीन का शुक्रिया अदा किया जिन्होंने उन्हें खेल का सामान भेजा था। बैंजमिन ने कहा कि कोई भी उनकी मदद करना चाहता है तो कर सकता है।

वेस्टइंडीज के लिए बेंजामिन ने 1987 से 1995 के बीच 21 टेस्ट और 85 वनडे खेले और 161 अंतरराष्ट्रीय विकेट अपने नाम किए। उन्होंने टेस्ट मैचों 61 विकेट लिए। भारत के खिलाफ 1987 में दिल्ली में अपना टेस्ट डेब्यू करने वाले इस पेसर को भारतीय क्रिकेटर से खास लगाव है।

Leave a comment

Your email address will not be published.