बीजेपी से सस्पेंड होते ही नूपुर शर्मा ने मांगी माफी,परिवार को मिली जान से मारने की धमकी

दोस्तो हम जब कभी किसी टॉपिक पर बात करते है तो जरूरी नही कि सबके विचार एक जैसे हो इसलिए उस मुद्दे पर बात करते करते कई बार बहस होने लगती है जिसमे एक दूसरे को कुछ ऐसी बाते बोल हो जाती है जो किसी को बुरी लग सकती है ऐसे में गुस्से में इंसान कुछ ऐसा बोल जाता है जिसकी वजह से विवाद होने लगते है और कई बड़ी समस्याएं पैदा हो जाती है ऐसा ही कुछ भाजपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता रह चुकी नूपुर शर्मा के साथ हुआ है । पूरा मामला जानने के लिए खबर को अंत तक जरूर पढ़े।

Nupur Sharma Tweet: नूपुर शर्मा ने दावा किया कि पैगंबर मोहम्मद के बारे में उनकी टिप्पणी “भगवान शिव का अपमान” किए जाने की प्रतिक्रिया के रूप में थी, क्योंकि वह इसे बर्दाश्त नहीं कर सकीं.

पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी के कारण भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से निलंबित की गई नूपुर शर्मा ने रविवार को वह बयान बिना शर्त वापस ले लिया, जो पिछले दिनों टेलीविजन में एक बहस के दौरान दिया था. साथ ही उन्होंने कहा कि उनकी मंशा किसी की धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने की नहीं थी. भाजपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता रह चुकीं शर्मा ने दावा किया कि पैगंबर मोहम्मद के बारे में उनकी टिप्पणी “भगवान शिव का अपमान” किए जाने की प्रतिक्रिया के रूप में थी, क्योंकि वह इसे बर्दाश्त नहीं कर सकीं.

नूपुर ने ट्विटर पर लिखा, “मैं पिछले कई दिनों से टीवी डिबेट पर जा रही थी, जहां रोजाना मेरे आराध्य शिवजी का अपमान किया जा रहा था. मेरे सामने यह कहा था जा रहा था कि वो शिवलिंग नहीं फव्वारा है, दिल्ली के हर फुटपाथ पर बहुत शिवलिंग पाए जाते हैं, जाओ जा के पूजा कर लो. मेरे सामने बार-बार इस प्रकार से हमारे महादेव शिवजी के अपमान को मैं बर्दाश्त नहीं कर पाई और मैंने रोष में आके कुछ चीजें कह दीं. अगर मेरे शब्दों से किसी की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची हो तो मैं अपने शब्द वापस लेती हूं. मेरी मंशा किसी को कष्ट पहुंचाने की कभी नहीं थी.”

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, “मैं सभी मीडिया घरानों और बाकी सभी से अनुरोध करती हूं कि मेरा पता सार्वजनिक न करें. मेरे परिवार की सुरक्षा को खतरा है.” नूपुर शर्मा ने दावा किया कि उन्हें उनकी टिप्पणी के लिए धमकियां मिल रही हैं. शर्मा की आपत्तिजनक टिप्पणी के खिलाफ मुस्लिम समूह प्रदर्शन कर रहे थे और उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे थे. पूर्व भाजपा प्रवक्ता के खिलाफ मुंबई, हैदराबाद और पुणे में धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप में मामले दर्ज किए गए हैं.

पार्टी ने शर्मा के साथ ही ट्विटर पर पैगंबर मोहम्मद पर दिए गए कथित विवादित बयान के लिए पार्टी की दिल्ली इकाई के मीडिया प्रमुख नवीन कुमार जिंदल को पार्टी से निष्कासित कर दिया. जिंदल ने कहा कि हिंदू देवी-देवताओं का अपमान करने व उनपर हमले करने वालों से सवाल पूछते हुए उन्होंने एक सवाल उठाया था और उनका किसी समुदाय से जुड़े लोगों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का कोई इरादा नहीं था.

शर्मा और जिंदल दोनों ही ने ट्विटर पर लोगों से आग्रह किया है कि वे उनका पता सार्वजनिक ना करें, क्योंकि उन्हें व उनके परिवार के सदस्यों को धमकियां मिल रही हैं. उनका यह संदेश इस संदर्भ में था कि पार्टी ने कार्रवाई संबंधी जो पत्र उन्हें भेजा है, उनमें उनके पते का उल्लेख है और लोग उस पत्र की प्रति को ट्विटर पर साझा कर रहे हैं.

Leave a comment

Your email address will not be published.