जुड़वाँ बच्चो की माँ बनी महिला लेकिन 8 महीने बाद पता चला अलग-अलग हैं दोनों बच्चो के पिता

दोस्तों इस दुनिया में कुदरत के कई सारे ऐसे फैसले है जो मेडिकल साइंस को भी पस्त कर देती है वैसे तो समय के साथ -साथ विज्ञान ने काफी तरक्की कर ली है लेकिन कुछ केस ऐसे भी सुनने को मिल रहे है जहां पर साइंस कमजोर साबित हुयी है और हमें यह सोचने के लिए मजबूर कर देती है कि इस दुनिया में माँ ने एक साथ दो बच्चो को जन्म दिया यह बात तो सही है लेकिन सोचने वाली ये बात है कि जिस औरत ने इन दो बच्चों को जन्म दिया है उन दोनों बच्चो के पिता भी अलग-अलग है यह कैसे संभव है हम अपने आर्टिकल के जरिये इन जुड़वाँ बच्चों के बारे में विस्तार से बताना चाहते है जानने के लिए बने रहे लेख के अंत तक.

पुर्तगाल में रहने वाली 19 साल की लड़की ने जुड़वां बच्चों को जन्म दिया था, जिनका डीएनए टेस्ट कराने पर पता चला कि उनके पिता अलग-अलग हैं. ये अपनी इस दुनिया का 20वां केस है और जुड़वां बच्चों के पिता अलग-अलग निकले हों. इस तरह के केसेज़ को मेडिकल साइंस की भाषा में हेट्रोपैरेंटल सुपरफेक्यूंडेशन (Heteroparental Superfecundation) कहा जाता है.

जुड़वां बच्चों के पिता निकले अलग-अलग :-

पुर्तगाल के गोइयास स्टेट में मौजूद छोटे से शहर Mineiros में रहने वाली 19 साल की लड़की ने जुड़वां बच्चों को जन्म दिया. लड़की ने इन बच्चों के पिता के तौर पर जिस शख्स का नाम लिया, वो बच्चों का डीएनए टेस्ट कराना चाहता था. जब टेस्ट हुआ, तब पता चला कि वो दो में से सिर्फ एक बच्चे का ही पिता है, जबकि दूसरे बच्चे का डीएनए उससे नहीं मिला. बच्चों की शक्ल-सूरत भी एक-दूसरे से काफी मिलती है, ऐसे में उनकी मां को बिल्कुल अंदाज़ा नहीं था कि उनके पिता अलग भी हो सकते हैं. 8 महीने के होने के बाद बच्चों की पहचान हो पाई और फिलहाल वे करीब डेढ़ साल के हैं.

दुनिया भर में हैं ऐसे सिर्फ 20 केस:-

डेली स्टार की रिपोर्ट के मुताबिक लड़की का कहना है कि वो एक साथ दो लोगों के साथ रिलेशनशिप में थी. यही वजह है कि उसके साथ ये केस हुआ. वो खुद डीएनए रिजल्ट्स को देखकर हैरान रह गई थी. बर्थ सर्टिफिकेट में अब भी बच्चों के पिता के नाम पर उसी शख्स का नाम है और वो उनकी देखभाल में मदद भी करता है. Dr Tulio Jorge Franco के मुताबिक ये दुनिया भर में 20वां हेट्रोपैरेंटल सुपरफेक्यूंडेशन का मामला है. पुर्तगाल के न्यूज आउटलेट G1 के मुताबिक ऐसी प्रेगनेंसी तब होती है जब मां के दो एग्स दो अलग पुरुषों के स्पर्म से फर्टिलाइज़ होते हैं. उनका जेनेटिक मटीरियल मां का होता है लेकिन प्लेसेंटा अलग होती हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.