यूपी-बिहार के 1 लाख से अधिक लोग जाना चाहते हैं हरियाणा वापस, ये है इसके पीछे की वजह

ताजा खबर

हरियाणा वापस जाने वालों में 50 हजार लोग ऐसे हैं जो गुरुग्राम जाना चाहते हैं। दरअसल हरियाणा के जिन जिलों लोग वापस जाना चाहते हैं, उन जिलों में सबसे ज्यादा इंडस्ट्री और बिजनेस इकाइयां हैं।

नई दिल्ली। कोरोना संकट के बीच जहां लॉकडाउन में लोग अपने घरों को वापस लौटना चाहते हैं तो वहीं हरियाणा ऐसा प्रदेश है जहां उत्तर प्रदेश और बिहार के प्रवासी मजदूर वापस काम पर लौटना चाहते हैं। गैर राज्यों से प्रवासी मजदूरों के पलायन के बीच हरियाणा में उल्टा हो रहा है। बता दें कि यूपी-बिहार से एक लाख से ज्यादा प्रवासी मजदूरों ने हरियाणा में काम पर लौटने के लिए आवेदन किया है।

Migrant

हालांकि इस पर संशय है कि लॉकडाउन के बीच ये सभी प्रवासी मजूदर लौट पाएंगे या नहीं। अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस कि रिपोर्ट के अनुसार हरियाणा सरकार के वेब पॉर्टल पर एक लाख से ज्यादा प्रवासी मजदूरों ने राज्य में काम पर लौटने के लिए आवेदन किया है। हरियाणा लौटने की इच्छा जाहिर करने वाले प्रवासी मजूदर उत्तर प्रदेश और बिहार से हैं। आंकड़ों के अनुसार, जिन 1.09 लाख प्रवासी मजदूरों ने हरियाणा काम पर लौटने की इच्छा जाहिर की है, उनमें 79.29 फीसदी गुरुग्राम, फरीदाबाद, पानीपत, सोनीपत, झज्जर, यमुनानगर और रेवाड़ी लौटना चाहते हैं।

MNC Gurugram

हरियाणा वापस जाने वालों में 50 हजार लोग ऐसे हैं जो गुरुग्राम जाना चाहते हैं। दरअसल हरियाणा में सबसे ज्यादा इंडस्ट्री और बिजनेस इकाइयां इन्हीं जिलों में है। हरियाणा के मुख्य सचिव अनुराग रस्तोगी  बताया कि यदि प्रवासी मजदूर हरियाणा आना चाहते तो हम उन्हें वापस लाने का इंतजाम करेंगे। राज्य में औद्योगिक गतिविधियां पहले ही शुरू हो चकी हैं।

Migrant workers

हरियाणा सीआईडी चीफ अनिल कुमार राव ने कहा कि ये वो लोग है जो काम करने के लिए वापस आना चाहते हैं। इसके अलावा कुछ लोग यहां अपने रिश्तेदार से मिलने के लिए आना चाहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *