परीक्षा हॉल में एंट्री से पहले भी तलाशी, छात्राओं के उतरवाए अंडरगारमेंट्स आँखों से छलका दर्द

दोस्तो आज के समय में पढ़ना परीक्षा देना इतना आसान नही रह गया ।एक तो छात्रों पर पढ़ने का दबाव क्योंकि कंपटीशन बहुत ज्यादा बढ़ गया है ।दूसरा परीक्षा सेंटर में छात्रों के साथ होने वाली स्खतायी से उन्हे मानसिक तनाव से गुजरना पड़ता है ।कुछ छात्रों के नकल करने का परिणाम सभी को भुगतना पड़ता है ।आज हम आपको ऐसे ही एक मामले के बारे में बताने वाले जिसमे परीक्षा के दौरान की गई चेकिंग से छात्राओं को शर्मिंदा होना पड़ा ।क्या है पूरा मामला जानने के लिए खबर को अंत तक जरूर पढ़े।

चेकिंग के नाम पर हद पार, छात्राओं के अंडरगारमेंट्स उतरवाए, विवाद

NEET (नेशनल एलेजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट) की परीक्षा के दौरान केरल के कोल्लम से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. आरोप है कि मार्थोमा इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी स्थित एग्जाम सेंटर पर सख्ती के नाम पर छात्राओं के अंडरगारमेंट्स तक उतरवा दिए गए. इस संबंध में छात्राओं के परिजनों ने पुलिस में मामला दर्ज कराया है. हालांकि मार्थोमा इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी ने इस घटना से इनकार किया है. फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है.

छात्रा के पिता ने शिकायत दर्ज कराने के बाद बताया, ‘मेरी बेटी को कहा गया कि अंडरगारमेंट्स का हुक मेटल डिटेक्टर में डिटेक्ट किया .गया है, इसलिए उसे उतारना होगा. करीब 90 फीसदी छात्राओं के अंडरगारमेंट्स उतरवाए गए और उसे स्टोर रूम में रखा गया. इस वजह से परीक्षा के दौरान ये छात्राएं मानसिक रूप से बेहद परेशान रहीं.’

एक और छात्रा के पिता ने कहा, ‘मेरी बेटी से कहा गया कि आपने परीक्षा में ड्रेसकोड का पालन नहीं किया है और अंडरगारमेंट्स उतारने होंगे. यदि आप ऐसा नहीं करेंगी तो आप परीक्षा में शामिल नहीं हो सकती हैं. कई और छात्राओं से ऐसा करने को कहा गया. इनमें से कुछ तो रोने लगीं.’ बता दें कि मार्थोमा इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी में नीट की परीक्षा आयोजित की गई थी और यह घटना 17 जुलाई की बताई जा रही है.

एक दूसरे मामले में राजस्थान में कोटा के मोदी कॉलेज सेंटर पर चार मुस्लिम छात्राएं हिजाब पहनकर पहुंचीं. इन्हें गेट पर पुलिस वालों ने रोक लिया. छात्राएं ने हिजाब हटाने से इनकार कर दिया. पुलिस ने समझाते हुए उन्हें ड्रेसकोड का हवाला दिया. फिर भी वो नहीं मानीं. उनके परिवार वाले भी अड़ गए. इसके बाद उनसे लिखित में लिया गया कि परीक्षा को लेकर कोई भी निर्णय होगा, उसके लिए वो खुद जिम्मेदार होंगी.

हालांकि प्रशासन ने इस घटना की पुष्टि नहीं की है. एएसआई गीता देवी ने बताया कि पुलिस ने गेट के बाहर की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की थी. कुछ स्टूडेंट्स ने पूरे कपड़े पहने हुए थे, उन्हें कड़ाई से जांच करने के बाद अंदर जाने दिया गया. जिन छात्राओं ने हिजाब पहन रखा था, उनको साइड में किया था. परीक्षा हॉल में एंट्री से पहले भी तलाशी ली गई.

Leave a comment

Your email address will not be published.