आलिशान बंगला और करोड़ो के मालिक थे बॉलीवुड के भगवान, लेकिन अंत समय बेचना पड़ा सब में चॉल में ली आखिरी सांस

दोस्तों बालीवुड की दुनिया में बहुत सारे कलाकारों का योगदान रहा है लेकिन कुछ ऐसे भी कलाकार है जिन्होंने फिल्म इंडस्ट्री को एक पसंददीदा स्थल तक पंहुचा दिया है क्योकि कुछ अभिनेता फ़िल्मों के दौर में ही सिनेमा की दुनिया में आये थे और फ़िल्मी दुनिया में आने के बाद उन्होंने बहुत सारी हिट फिल्मे दी और लोगो को अपना दीवाना बना लिया है हम जिस एक्टर के बारे में बात करने जा रहे है वो भारतीय अभिनेता और निर्देशक भी रहे है इनकी फिल्मो में हास्य और कामेडी ज्यादातर देखने को मिलती है लेकिन कुछ कारणों के कारण इनको अपना घर गाड़ी और बंगला तक भी बेचना पड़ा आखिर क्या कारण था कि इनको अपना सब कुछ बेचना पड़ा. अगर जानना चाहते हो तो पोस्ट के अंत तक बने रहे.

दोस्तों भगवान दादा ने मूक सिनेमा के दौर में फिल्म क्रिमिनल से डेब्यू किया. उनकी पहली बोलती फिल्म थी साल 1934 में आई हिम्मत-ए-मर्दा. इस फिल्म उनके साथ ललिता पवार नजर आई थीं. और उन्हें शेवरले कारों का शौक था और उनके पास लेटेस्ट डिजाइन की 7 कारें थीं. वह हर रोज सेट पर नई कार से जाते थे. वह हॉलीवुड एक्टर डगलस फेयरबैंक्स के फैन थे. वह बिना किसी बॉडी डबल के अपने स्टंट खुद किया करते थे, जिसकी वजह से उनके स्टंट काफी असली लगते थे. राज कपूर उन्हें इंडियन डगलस कहते थे. उनके डांस स्टेप्स को अमिताभ बच्चन, गोविंदा और मिथुन भी फॉलो करते थे. फिल्मों में काम करते करते उन्होंने मेकिंग भी सीखी. 1931 से लेकर 1996 तक यानी करीब 65 साल तक उन्होंने एक्टर, डायरेक्टर और कॉमेडियन के रोल में काम किया.

भगवान दादा की पहली निर्देशित फिल्म ‘बहादुर किसान’ थी. वहीं उन्होंने हाॅलीवुड फिल्म ‘डोरोथी लैमौर’ की रीमेक तमिल फिल्म ‘वाना मोहिनी’ का निर्देशन किया जो भारतीय सिनेमा के इतिहास में एक महत्वपूर्ण फिल्म है.राज कपूर के सलाह पर भगवान दादा ने अलबेला बनाई, फिल्म हिट रही. लेकिन एक फिल्म अर्श से उन्हें फर्श पर ला  दिया. वह फिल्म थी हंसते रहना. इस फिल्म के लिए उन्होंने अपना सबकुछ दाव पर लगा दिया था. फिल्म के हीरो थे एक्टर किशोर कुमार. लेकिन कहा जाता है कि किशोर कुमार ने इतने नखरे दिखाए कि फिल्म को बंद करनी पड़ी और दादा को बंगला और कारें सब कुछ बेचना पड़ा . आर्थिक तंगी के कारण दादा को मुंबई की चॉल में रहना पड़ा. उन्होंने छोटे रोल्स फिल्मों में किए. और 4 फरवरी 2002 को हार्ट अटैक से उनका निधन हो गया.

Leave a comment

Your email address will not be published.