सर,पत्नी रूठ कर चली गई मायके, मनाने को दे दो तीन दिन की छुट्टी-वायरल हुई क्लर्क की लिखी ये चिट्ठी

दोस्तो आज के समय में सभी जॉब करते है और ऐसा कोई कर्मचारी नहीं होगा जिसको छुट्टी की जरूरत न पढ़ती हो । अब छुट्टी लेने के लिए जन्हा जॉब कर रहे उनको रीजन भी बताना पड़ता है कि आखिर छुट्टी चाहिए क्यों यदि रीजन सॉलिड हो तो आसानी से छुट्टी मिल जाती है नही तो लीव एप्लीकेशन कैंसल हो जाती है । आपने बहुत सी लीव एप्लीकेशन में देखा होगा कोई बीमारी की वजह से तो कोई शादी के लिए तो कोई जरूरी काम के लिए छुट्टी लेता है लेकिन इन दिनो एक लीव एप्लीकेशन काफी वायरल हो रही है इसके वायरल होने के पीछे बड़ा ही सॉलिड रीजन है ।क्या है वो रीजन जानने के लिए खबर को अंत तक जरूर पढ़े।

उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में एक क्लर्क ने अफसरों को दिलचस्प चिट्‌ठी लिखी है। यह खत बीएसए के क्लर्क ने छुट्‌टी के लिए अपने अफसरों को लिखा है। खत में क्लर्क ने लिखा है कि पत्नी रूठकर मायके चली गई है, उसे वापस लाने के लिए तीन दिन की अवकाश चाहिए। एक साल से छुट्टी नहीं मिलने की वजह से पत्नी की नाराजगी ज्यादा बढ़ गई है। इस वजह से लड़ाई कर बच्चों को लेकर मायके चली गई है। क्लर्क का नाम शमशाद अहमद है, वह प्रेम नगर स्थित बीएसए कार्यालय में लिपिक के पद पर तैनात है। शमशाद की लीव एप्लिकेशन उनके विभाग में चर्चा का विषय बनी है।आपको बता दें कि, क्लर्क शमशाद ने चार अगस्त से छह अगस्त तक छुट्टी पर रहने के लिए खंड शिक्षा अधिकारी प्रेम नगर को चिट्ठी लिखी है। चिट्ठी में क्लर्क ने वजह बताते हुए लिखा है कि उनकी पत्नी से उनका विवाद हो गया। पत्नी अपने मायके चली गई।

पत्नी को मनाने के लिए जाना पड़ेगा ससुराल 

पत्नी के जाने से वह मानसिक रूप से परेशान है। पत्नी को मनाकर वापस लाने के लिए ससुराल जाना पड़ रहा है। शमशाद ने चिट्ठी में यह भी जिक्र किया कि उसे पिछले करीब एक साल से किसी भी तरह की छुट्टी नहीं मिली। अवकाश न मिलने को लेकर पत्नी से बीते कई महीनों से कहासुनी चल रही थी। लेकिन दो दिन पहले बात हद से ज्यादा बढ़ गई। वह ड्यूटी पर कार्यालय आ गए, शाम को जब घर पहुंचे तो उनकी पत्नी मायके चली गई थी। पत्नी अपने साथ बेटी और दोनों बेटों को भी लेकर गई है। क्लर्क की चिट्ठी सोशल मीडिया पर वायरल हो गई।

दो दिन पहले बलिया के सिपाही की चिट्ठी भी हुई थी वायरल

हालांकि, इस चिट्ठी पर उनके साथी कर्मचारी हंसी उड़ा रहे हैं, लेकिन शमशाद का चिट्ठी को लेकर कहना है कि जो सच था वही लिखा है। वहीं, इससे दो दिन पहले बलिया में यूपी पुलिस के एक सिपाही ने भी छुट्टी के लिए आवेदन किया था। इसमें उसने लिखा था कि प्रार्थी की शादी को सात महीने बीत गए हैं, कोई खुशखबरी अभी तक नहीं मिली है। डॉक्टर की सलाह से दवाई ली है। डॉक्टर ने पत्नी के साथ रहने के लिए बोला है, ऐसे में घर जाना होगा, इसलिए प्रार्थी का निवेदन है कि 15 दिन की छुट्‌टी दी जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.