जॉनी डेप ने ठुकराया एक्स पत्नी से मिलने वाला अरबों रूपए का हर्जाना,फैन्स बोले कितनी बार जीतोगे दिल

दोस्तो दुनिया में कई तरह के लोग है जिनमे से कुछ लोग छोटी छोटी बातो का बुरा मान लेते है और बदला लेने की ठान लेते है और कुछ लोग ऐसे होते है जिनके साथ कोई कितना ही बुरा क्यों न करदे वो सबको माफ कर देते है उन्ही में से एक है हॉलीवुड अभिनेता जॉनी डेप। जॉनी डेप जितने अच्छे अभिनेता है उतने ही अच्छे इंसान भी है और उससे भी ज्यादा अच्छा उनका दिल है । ये तो कई बार साबित हो चुका है लेकिन इस बार फिर जॉनी डेप ने एक ऐसा काम करके सब का दिल जीत लिया है । अब जॉनी डेप ने ऐसा भी क्या किया है जिसकी वजह से हर तरफ उन्ही के चर्चे हो रहे है जानने के लिए खबर को अंत तक जरूर पढ़े

जॉनी डेप पर एंबर हर्ड ने कोर्ट में जमकर कीचड़ उछाला. लेकिन, वो केस हार गईं. मानहानि के लिए कोर्ट ने एंबर से जॉनी को एक मोटी रकम अदा करने के लिए कहा. अगर कोई और होता तो एंबर से बदला लेने की सोचता और एक रूपए भी नहीं छोड़ता, लेकिन जॉनी तुम सच में दूसरों से अलग हो…

जॉनी…जॉनी…ओह जॉनी डेप (Johnny Depp)! एक ही दिल कितने बार जीतोगे??? लड़कों ने तुम्हें पहले ही अपना ऑदर्श मान लिया है. कहीं वो खुशी के मारे छत से ना कूद जाएं. तुम उनके सहारा जो है. तुम उनके लिए वो तोहफा हो जो जिन्न के चिराग से भी न मिलता.  हालांकि एंबर से अरबों रूपए ना लेकर तुमने उनके लिए एक नई लकीर खींच दी है, वे तो 10 रूपए ना छोड़ें. वैसे तुम्हारे लिए कुछ लड़कों के मन में फूट-फूट के प्यार छलक रहा है. तुम उनके लिए वो मसीहा हो, जिसने दुनिया का बताया कि हर बार गलती लड़के का नहीं होते हैं. वरना लोग लड़का-लड़की के मामले में पुरुषों को ही दोषी करार देते रहे, खासकर हमारे देश में डोमेस्टिक वॉयलेंस (domestic violence) के झूठ केस लड़कों के हिस्से आते रहते हैं. कई बार तो उन्हें सजा भी हो जाती है.हालांकि अपराधी किस्म के लड़के तुम्हारे साए में बच नहीं सकते, चाहें कितना भी विक्टिम कार्ड क्यों ना खेल लें. तुमने दुनिया को बताया कि, ना हर बार लड़का गलता होता है. ना हर बार लड़की सही होती है. दोनों में से कोई भी गलत हो सकता है. इसलिए अगर किसी के बारे में हम कुछ गलत सुने तो बिना दोनों पक्षों को जाने किसी एक को दोषी न माने.

खासकर, इस सोशल मीडिया के जमाने में जहां कुछ भी असंभव नहीं. जब एंबर हर्ड एडिट करके नकली घाव के निशान बनवा सकती हैं तो फोटो शॉप में तो कुछ भी किया जा सकता है. हालांकि समय आने पर दूध का दूध और पानी का पानी हो ही जाता है. तभी को एंबर हर्ड के इतना रोना-धोना करने के बाद भी अदालत उनकी बातों में न आ पाई.पुरुष आयोग को नई आवाज देने वाले जॉनी, बहुत सारे लड़कों ने तुम्हारा शुक्रिया कहा है. लड़के, तुम्हें अपने बचपन वाली कविता “जॉनी-जॉनी यस पापा…” वाले जॉनी बाबू से भी ज्यादा प्यार करते हैं.ऊपर से तुमने यह ईशारा किया है कि तुम केस जीतने के बाद, अपना सम्मान पाने के बाद, दोबारा अपनी जिंदगी हासिल करने के बाद करीब 1.5 अरब वे पैसे नहीं लोगे जो एंबर तुम्हें हर्जाने के रूप में देने वाली है. अगर कोई और होता तो एंबर से बदला लेने की सोचता और एक रूपए भी नहीं छोड़ता, लेकिन कितना बड़ा दिल है तुम्हारा…तुम्हें नहीं पाता कि तुमने कितनी लड़कियों की आज आंखें खोल दी है

कि, किसी पर झूठा यौन उत्पीड़न का केस लगाना कितना गलत है. आज तुम्हारे इस फैसले को सुनकर शायद एंबर हर्ड भी ग्लानि से भर गई होगी. शायद वह खद पर अफसोस जता रही होगी.साल 2018 से ही तुम इस आरोप के साए में जी रहे थे. मानहानि का केस लड़ते वक्त कितनी बार तुम्हारे ऊपर गंदे इल्जाम लगे, लेकिन तुम हार नहीं माने. कितना तो घुटे होगे तुम…सोच रहे होगे कि दुनिया को चिल्लाकर बता दूं कि मैं ऐसा नहीं हूं. गुस्सा तो तुम्हें आया होगा. एंबर के साथ बिताए पलों के बारें सोचकर रोए भी होगा.एंबर के साथ तुम्हारी शादी 2 ही साल चल पाई और इस तरह एक प्रेम कहानी का अंत हो गया…अभी तुम खुद से जूझ ही रहे थे कि Washington Post में छपे एक आर्टिकल ने तुम्हारी जिंदगी तबाह कर दी, जिसमें लिखा था कि तुमने एंबर को मारा-पीटा है, यौन शौषण किया है, टॉर्चर किया है. तुम्हारे फैंस तो तुमसे बेइंतहा मुहब्बत करते थे वे तुमसे नफरत करने लगे थे, क्योंकि तुमने एक बेचारी महिला को सताया था.

देखो, अब सब ठीक हो गया है. तुम केस जीत चुके हो. फैंस को भरोसा था कि तुम गलत नहीं हो. जिस अखबार में तुम्हारे बारे में बुराइयां छपी थीं आज तुम उनकी हेडलाइन हो…कि तुम गलत नहीं थे औऱ ना हो…तुम जितनी रातें बेचैनी में बिताईं होंगी कि हम अंदाजा नहीं लगा सकते.दरअसल, जॉनी के वकील Benjamin Chew ने गुड मॉर्निंग अमेरिका के होस्ट George Stephanopoulos से बातचीत में कहा है कि अगर अंबर आगे अपील नहीं करेंगी तो शायद यह हो सकती है कि जॉनी उनसे मुवाअजे की रकम ना लें. यह केस जॉनी वह कभी पैसों के लिए लड़ ही नहीं रहे थे. उन्हें यह पैसा कभी नहीं चाहिए था. वो तो अपनी झूठी बदनामी से बाहर निकलना चाहते थे. उन्हें तो अपनी वही पुरानी साख और रसूख चाहिए था जो घरेलू हिंसा और यौन शोषण का आरोप लगने के बाद धूमिल हो गया था.

एंबर ने जिस तरह एक के बाद एक घाव दिए उसने जॉनी के जख्म को नासूर कर दिया था. वह हीरो जो दुनिया के सामने कभी सिर नहीं झुकाता था, उसने अपनी नजरें नीची कर ली थीं. उसका आत्मविश्वास कमजोर पड़ गया था. वह दुनिया के सामने आने से कतराता था.झूठे इल्जामों का बोझ क्या होता है, यह वह समझ सकता है जिसने बिना कुछ किए सालों जेल में बिता दिए हों. या फिर पूरी दुनिया ने उसे गलत मानकर मुंह मोड़ लिया हो.जॉनी, आज तुम एक बार फिर से सिर उठाकर चल रहे हो, यह तुम्हारे किसी दौलत से बड़ी है. ऐसी किस्मत दुनिया के कई निर्दोष पुरुषों को नसीब नहीं होता…शायद एंबर को अपने किए पर पछतावा हो रहा होगा…खैर, जॉनी ने इतनी बड़ी रकम माफ करके यह तो बता ही दिया है कि वे सच्चे हैं और उनका दिल कितना बड़ा है..

Leave a Reply

Your email address will not be published.