कन्हैया लाल को मारने से पहले ही पत्नी को दूसरी जगह छोड़ आया था रियाज न,नमाज के दौरान मिले थे दोनों आरोपी

दोस्तों जैसा कि सभी को मालूम है राजस्थान के उदयपुर जो घटना घटी है उससे वहां के हालात बद से बदतर हो रहे है।एक तो उदयपुर में शोक की लहर छाई हुई है दूसरा लोगो में रोष उत्पन्न हो रहा है ।खबर सामने आई है ऐसे में कन्हैया लाल की ह-त्या के बाद राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ह त्या का वीडियो वायरल न करने की लोगो से अपील कर रहे है ।इसके साथ ही पता चला है कि दोनो अपराधियों ने घटना को अंजाम देने से पहले ही कर लिए थे सारे इंतजाम ।

उदयपुर शहर के धानमंडी थाना क्षेत्र की मालदीस स्ट्रीट में तीन लोगों ने एक कन्हैया लाल नाम के टेलर का सिर कलमकर दिया. आज उदयपुर में हत्यारों के ठिकाने तक पहुंचा. कन्हैया की हत्या का एक आरोपी रियाज, उदयपुर के मुस्लिम बाहुल्य इलाके किशन पोल इलाके में अपनी पत्नी के साथ रहता है.रियाज ने 12 जून को किराए पर कमरा लिया था. कन्हैया लाल की हत्या के पहले रियाज ने अपनी पत्नी को किसी दूसरी जगह पर छोड़ दिया था. रियाज और दूसरे आरोपी गौस मोहम्मद की दोस्ती मस्जिद में नमाज के दौरान हुई, दोनों 5 वक्त के नमाजी हैं. गौस मोहम्मद, आरोपी रियाज के घर से कुछ दूरी पर रहता है. हत्याकांड के बाद गौस का परिवार गायब है.कन्हैया के हत्यारोपी रियाज का मकान मालिक उमर का कहना है कि रियाज ने 12 जून को कमरा किराए पर लिया था, पत्नी साथ थी, रियाज ज्यादा बात नहीं करता था, वो अलग टाइम पर निकलता था मैं अलग टाइम पर निकलता था, पुलिस लगातार आ रही है, जब रियाज नमाज पढ़ता था उस वक्त मुलाकात हो जाती थी.

क्यों और कैसी हुई कन्हैया लाल की हत्या?

पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ टिप्पणी करने वाली नूपुर शर्मा के समर्थन में बेटे द्वारा पोस्ट करने पर कन्हैया लाल की हत्या कर दी गई. कन्हैया लाल के बेटे ने विवादित पोस्ट किया था. इसके उदयपुर शहर के धानमंडी थाना क्षेत्र की मालदीस स्ट्रीट में दो लोगों ने एक कन्हैया लाल नाम के टेलर का सिर कलम कर दिया. गुनहगारों ने हत्या का वीडियो भी बनाया. हत्याकांड के बाद दोनों हत्यारों ने एक और वीडियो बनाया. इस वीडियो में दोनों हत्यारे अपने नाम भी बताते हैं, एक कहता है कि उसका नाम मुहम्मद रियाज़ है, औऱ दूसरे का नाम मुहम्मद गोस है. वो वीडियो में कहता है कि गुस्ताख-ए-नबी की एक ही सज़ा, धड़ सिर से जुदा.

हत्या से 10 दिन पहले टेलर कन्हैया लाल के बेटे ने नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट कर दिया. उसके बाद से ही कन्हैया लाल को लगातार धमकियां मिल रही थीं. कन्हैया ने इसकी सूचना पुलिस को दी थी, लेकिन आरोप है कि पुलिस ने लापरवाही बरतते हुए ध्यान नहीं दिया. इसके बाद 28 जून की दोपहर को हत्यारे कपड़े सिलवाने के बहाने आए और गला काट दिया.इस हत्याकांड के बाद अब पूरे उदयपुर में इस हत्या के खिलाफ़ जमकर विरोध प्रदर्शन हो रहा है शहर के 5 इलाकों में बाजार बंद कर दिए गए हैं. उदयपुर में भूतमहल के पास कन्हैयालाल की सुप्रीम टेलर्स नाम से दुकान है. कन्हैया लाल गोर्वधन विलास इलाके का रहने वाला था. 5 दिनों से उसने अपनी टेलर्स की दुकान भी नहीं खोली थी.मंलगवार को जब कन्हैया ने दुकान खोली, तो हत्यारों ने कपड़े सिलवाने के बहाने उसकी निर्मम हत्या कर दी. हत्यारा रियाज 10 साल से उदयपुर में ही रह रहा है. सूत्रों के मुताबिक, रियाज अहमद भीलवाड़ा के आसींद इलाके का रहने वाला बताया जा रहा है. दूसरे आरोपी का नाम गौस मोहम्मद है, वो भी उदयपुर के खांजीपीर इलाके के रहने वाले है.

Leave a comment

Your email address will not be published.