नूपुर की सपोर्ट में आये डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री,बोले भारत इराक या सीरिया नहीं जो

दोस्तो जैसा कि सभी को मालूम है इन दिनों नुपुर शर्मा का मामला बहुत गरमाया हुआ है । टीवी पर डिबेट के दौरान नुपुर के बयान के बाद से लोग नुपुर शर्मा का विरोध कर रहे है यही नहीं बात इतनी ज्यादा बढ़ गई है कि अब उनके पुतले बना कर तारो पर लटकाए जा रहे है । जिसके बाद कई लोग नुपुर के समर्थन में मैदान में उतर रहे है ।उन्ही में से एक है बॉलीवुड फिल्म निर्देशक विवेक अग्निहोत्री जो कि नुपुर के समर्थन में आगे आए और दिया ये बयान ।इस मामले से जुड़ी पूरी खबर जानने के लिए खबर को अंत तक जरूर पढ़े।

आये दिन नुपुर शर्मा का मामला लगातार तूल पकड़ते चला जा रहा है और इसके कारण से बहुत से लोग है जो प्रभावित भी हो रहे है. अगर हम अभी की बात करते है तो कई लोग है जो नुपुर के विरोध में है और इस हद तक खिलाफ है कि उनके पुतले तक तारो पर लगाकर के लटकाया जा रहा है जो किसी भी प्रकार से मानवीय नही है. अब जब बात हद से बाहर निकल गयी तो फिर कई लोगो को यहाँ पर सामने आना पड़ा है और अपनी तरफ से विरोध भी दर्ज करवाना पड़ा है.विवेक अग्निहोत्री ने कहा, ये कोई ईराक या फिर सीरिया नही है.

आपको मालूम हो तो इस गए शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद में देश भर में अलग अलग जगहों पर लाखो मुस्लिम समुदाय से जुड़े हुए लोग जमा हुए और उन्होंने कई ऐसे गलत नारे लगाये जो भारतीय संविधान के अनुसार उपयुक्त नही है फिर उन्होंने ऊपर तारो पर नुपुर के पुतले को भी टांग दिया जैसे खाड़ी देशो में इंसानों के साथ में किया जाता था.ये सब चीजे होते हुए देखकर के कश्मीर फाइल्स फिल्मे के निर्माता विवेक अग्निहोत्री ने कहा कि माफ़ करना दोस्तों लेकिन ये कोई सीरिया या फिर इराक नही है बल्कि ये आज का भारत है.अभी तो ये सिर्फ लोगो के पुतले लगा रहे है लेकिन अगर इनको जल्द ही दंड नही दिया गया तो फिर यहाँ पर ये लोग असली लोगो को लगायेंगे. आगे विवेक जी ने खिलाफत मुहीम से इसे जोड़ दिया.

देश के अलग अलग शहरो में आम लोगो का जनजीवन हुआ बेहाल नुपुर शर्मा को जेल भेजने के लिए सरकार पर दबाव की मांग को लेकर गत शुक्रवार को आम लोगो का जीवन पूरे तरीके से बेहाल कर दिया गया. ट्राफिक जाम रहा लोगो के आस पास माहौल काफी खराब रहा और पुलिस बल की कई जगहों पर भारी तैनाती रही.कही न कही इससे एक बात तो पता चल ही जाती है कि लॉ एंड आर्डर की स्थिति बहुत ही अधिक अच्छी नही है और अगर ऐसे ही आगे चलता रहा तो आम आदमी की सुरक्षा पर रिस्क बना रह सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.