370 के हटने का दिखा असर, J&K के स्थायी निवासी बनने वाले पहले IAS बने बिहार के नवीन

ताजा खबर

अनुच्छेद 370 के हटने के बाद बिहार के रहने वाले आईएएस अफसर जम्मू-कश्मीर के स्थायी निवासी बने हैं। आईएएस अफसर नवीन चौधरी वर्तमान में जम्मू शहर में रहते हैं। वो दूसरे राज्य से आने वाले ऐसे पहले नौकरशाह हैं, जिन्हें राज्य का स्थायी निवासी बनाया गया है।

नई दिल्ली। अनुच्छेद 370 के हटने के बाद बिहार के रहने वाले आईएएस अफसर जम्मू-कश्मीर के स्थायी निवासी बने हैं। आईएएस अफसर नवीन चौधरी वर्तमान में जम्मू शहर में रहते हैं और वह राज्य सरकार के एग्रीकल्चर विभाग में कमिश्नर सेक्रेटरी पद पर नौकरी कर रहे हैं। नवीन चौधरी दूसरे राज्य से आने वाले ऐसे पहले नौकरशाह हैं, जिन्हें राज्य का स्थायी निवासी बनाया गया है।

जम्मू-कश्मीर सरकार के कृषि विभाग में कमिश्नर सेक्रेटरी पद पर तैनात नवीन चौधरी मूल रूप से बिहार के दरभंगा जिले के रहने वाले हैं। पूर्व में उन्होंने जम्मू के बाहू तहसीलदार कार्यालय में डोमिसाइल सर्टिफिकेट के लिए अप्लाई किया था। इस आवेदन के बाद गुरुवार को बाहू तहसील के तहसीलदार रोहित शर्मा ने नवीन को डोमिसाइल सर्टिफिकेट जारी किया।

नवीन चौधरी को यह सर्टिफिकेट जम्मू-कश्मीर ग्रांट डोमिसाइल सर्टिफिकेट (प्रोसिजर) रूल्स 2020 के नियम 5 के तहत जारी किया गया है। इस कानून को हाल ही में जम्मू-कश्मीर में लागू कराया गया था, जिसका तमाम संगठनों ने विरोध भी किया था। राज्य के इस अधिवास कानून को केंद्र सरकार की कैबिनेट ने मंजूरी दी थी।

केंद्र सरकार ने अनुच्छेद 370 के अंत के बाद जम्मू-कश्मीर में नए डोमिसाइल कानून (संशोधन) को मंजूरी दी थी। इसमें उन लोगों को स्थायी निवासी के रूप में मान्यता दी गई थी जो कि 15 साल से जम्मू-कश्मीर में रह रहे हों या जिन लोगों ने यहां पर सात साल तक पढ़ाई की हो और इसी राज्य के स्कूलों में 10वीं एवं 12 की परीक्षा दी हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *