वर्ल्ड कप में धोनी के रनआउट पर 63 साल के इस कमेंटेटर का दिखा था जोश

खेल
पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज और कमेंटेटर इयान स्मिथ भारत और न्यूजीलैंड के बीच 2019 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मैच के दौरान काफी चर्चा में आए थे जब धोनी के रनआउट होने पर वह पूरे जोश में दिखे और खड़े होकर कमेंट्री करने लगे. न्यूजीलैंड क्रिकेट के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज और कमेंटेटर इयान स्मिथ भारत और न्यूजीलैंड के बीच 2019 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मैच के दौरान काफी चर्चा में आए थे जब धोनी के रनआउट होने पर वह पूरे जोश में दिखे और खड़े होकर कमेंट्री करने लगे. धोनी के इस रनआउट के बाद भारत की वर्ल्ड कप जीतने की उम्मीदें खत्म हो गई थीं. दरअसल, न्यूजीलैंड क्रिकेट ने 63 साल के अपने पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज इयान स्मिथ को क्रिकेट में उनकी उत्कृष्ट सेवाओं के लिए बर्ट सटक्लिफ पदक से सम्मानित किया. कोविड-19 महामारी के कारण पुरस्कार समारोह का आनलाइन आयोजन किया गया. न्यूजीलैंड महिला क्रिकेट टीम की कप्तान सोफी डिवाइन और घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करने वाले डेवोन कॉनवे को पुरस्कारों के पहले दिन क्रमश: महिला एवं पुरुष वर्ग में ‘ड्रीम 11 सुपर स्मैश प्लेयर ऑफ द ईयर’ पुरस्कार दिया गया. न्यूजीलैंड क्रिकेट अगले तीन दिन तक अन्य पुरस्कारों का वितरण करेगा. इनमें वर्ष के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी को दिया जाना वाला सर रिचर्ड हेडली पदक भी शामिल है जो शुक्रवार को दिया जाएगा. घरेलू स्तर पर सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजी और गेंदबाजी के लिए दी जाने वाली ट्रॉफी और वर्ष के सर्वश्रेष्ठ घरेलू क्रिकेटर का पुरस्कार बुधवार को दिया जाएगा. स्मिथ को न्यूजीलैंड क्रिकेट के अध्यक्ष ग्रेग बार्कले ने आभासी तौर पर पुरस्कार सौंपा. इस 63 वर्षीय विकेटकीपर बल्लेबाज ने 1980 से 1992 तक न्यूजीलैंड की तरफ से 63 टेस्ट और 98 वनडे मैच खेले थे. स्मिथ को दिया गया पुरस्कार पूर्व टेस्ट खिलाड़ी बर्ट सटक्लिफ के नाम पर रखा गया है जिन्होंने अपने देश की तरफ से 42 टेस्ट मैच खेले थे. स्मिथ से पहले यह पुरस्कार वाल्टर हेडली, मर्व वालेस, जॉन रीड, ग्राहम डाउलिंग, सर रिचर्ड हेडली और इवान चैटफील्ड हासिल कर चुके हैं. क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद कमेंटेटर बने स्मिथ ने कहा, ‘मैं आभारी हूं. इस सूची में जुड़ने से मैं भावुक हो गया हूं. मुझे अब भी सर रिचर्ड हेडली की गेंदों के सामने विकेटकीपिंग करना, मार्टिन क्रो को बल्लेबाजी करते हुए देखना याद है.’ उन्होंने कहा, ‘मुझे टेस्ट क्रिकेट में बिताया हर पल अच्छा लगता है. ब्रेंडन मैक्कुलम का तिहरा शतक हमेशा मेरे जेहन में रहेगा. लॉर्ड्स, होबार्ट में टेस्ट मैचों में जीत, रोस टेलर के 290 रन और विश्व कप फाइनल कभी नहीं भुलाए जा सकते हैं.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *