अब आमआदमी की होगी बल्ले बल्ले, सरिया सीमेंट के दाम में हुई भारी गिरावट

 इस समय महंगाई अपने चरम पर है। हम सभी जानते हैं कि दिन-ब-दिन महंगाई कम होने वाली नहीं है बल्कि इसे बढ़ना ही है। अगर आप मंहगाई से बचकर घर बनवाना चाहते हैं तो अपने सपनों का घर अभी बनवा लें। आग की कीमत कम होने के बजाय बढ़ना तय है। ऐसे में भवन निर्माण सामग्री की बढ़ी कीमतों में गिरावट का फायदा उठाया जा सकता है। दरअसल भीषण गर्मी में भीषण गर्मी में मजदूरों के न मिलने से मांग घटी और निर्माण कार्य बंद होने से बारों के दाम कम हो गए हैं. करीब 7000 रूपये प्रति टन का अंतर आया है . वहीं, छह अंकों का आंकड़ा पार करने वाले बड़े ब्रांडों की कीमत में चार से पांच हजार रुपये की गिरावट आई है। आप कम खर्च में घर बना सकते हैं।

केंद्र सरकार ने हाल ही में कोयला और कबाड़ पर शुल्क कम किया था। इसका असर अब लाहा बाजार पर भी पड़ने लगा है। इसके साथ ही स्पंज और स्पंज प्लेट पर एक्सपोर्ट ड्यूटी बढ़ा दी गई है। इन दोनों कच्चे माल पर निर्यात शुल्क शून्य से बढ़ाकर 45 प्रतिशत कर दिया गया है इस समय में उपलब्धता बढ़ी है। इन कारणों से बार के निर्माण की लागत कम हो गई है। कारोबारियों का कहना है कि महंगाई की वजह से रीबर और सीमेंट की कीमतों में आई गिरावट से अचानक खरीदारी बढ़ गई है.23 मई को ब्रांडेड बार 71,000 रुपये प्रति टन और स्थानीय ब्रांड बार 67,000 रुपये तक बिके।25 मई को ब्रांडेड बार 66,000 रुपये प्रति टन और स्थानीय ब्रांड बार 62,000 रुपये में बिके1 जून को ब्रांडेड बार 67,000 रुपये प्रति टन और स्थानीय ब्रांड बार 62,000 रुपये प्रति टन पर बिक रहे हैं।

नवंबर 2021 : 70000
दिसंबर 2021: 75000
जनवरी 2022 : 78000
फरवरी 2022 : 82000
मार्च 2022: 83000
अप्रैल 2022 : 78000
मई 2022 : 71000
जून 2022: 62000

उसी सीमेंट की कीमत में भी कमी आई है, प्रिज्म सीमेंट रीवा के संभागीय विक्रेता वीरेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि इस समय सीमेंट की कीमत गिर गई है, कीमत 380 रुपये हो गया है। पहले 400 रुपये से अधिक की कीमत सीमेंट बन गई थी।अल्ट्राटेक रीवा के विक्रेता सुनील सिंह ने कहा कि वर्तमान में सीमेंट की कीमत काफी गिर गई है, करीब 15 दिन पहले सीमेंट का भाव ₹410 प्रति बोरी था लेकिन अब यह घटकर ₹375 हो गया है।

Leave a comment

Your email address will not be published.