नरेंद्र मोदी के बाद ये होगा देश का PM,सांसद ने कर दी भविष्यवाणी

 

दोस्तों अक्सर चुनाव से पहले ही उसके परिणाम के बारे में लोग अंदाजा लगाना शुरू कर देते है कि अबकी बार कौन सी सरकार आने वाली है या किस राज्य का सी एम कौन होगा .पुराने समय से ही राजनीती या नेताओ को लेकर बहुत बार भविष्यवाणीया की गयी . जिनमे कुछ सच भी हुयी है कुछ नही भी .हाल ही में एक भविष्वाणी की गयी है की नरेंद्र मोदी के बाद भारत के नये प्रधानमंत्री कौन होने वाले है . यदि आप भी भारत के अगले प्रधानमंत्री के बारे में जानना चाहते है तो खबर को अंत तक पढ़े .

भारतीय जनता पार्टी के बिहार (Bihar) प्रदेश उपाध्यक्ष और मुजफ्फरपुर से सांसद अजय निषाद (Muzaffarpur MP Ajay Nishad) अक्सर अपने बयानों की वजह से न्यूज हेडलाइंस (news headlines) में बने रहते हैं। उन्होंने सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के मंत्री और विकासशील इंसान पार्टी (Vikassheel Insaan Party) सुप्रीमो मुकेश सहनी (Mukesh Sahni) के यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (UP assembly elections in 2022) में उतरने की घोषणा के बारे में कहा क‍ि यद‍ि वे अपनी ज‍िद से पीछे नहीं हटे तो यह उनके ल‍िए व‍िनाशकारी साब‍ित होगा। 

तब्लिगी जमात, मदरसों में आतंकवाद, खुले नमाज समेत अनेक मुद्​दों पर खुलकर अपनी बातों को रखने वाले मुजफ्फरपुर के सांसद अजय निषाद ने यूपी विधानसभा चुनाव 2022 और मंत्री मुकेश सहनी के संदर्भ में गए पूछे एक सवाल के जवाब में कहा क‍ि वे राजन‍ीत‍ि के नाम पर न‍िषाद समाज को हमेशा धोखा देते रहे हैं। यूपीए और एनडीए में रहते हुए उन्‍होंने समाज के ल‍िए कुछ भी नहीं क‍िया।   

निषाद समाज भारतीय जनता पार्टी के साथ

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (UP assembly elections in 2022) और मंत्री मुकेश सहनी (Mukesh Sahni) के संदर्भ में पूछे गए एक सवाल के जवाब में कहा, सीएम योगी के पास व्यापक जनाधार है। भाजपा के चमकते सितारे हैं। पूरा न‍िषाद समाज बीजेपी के साथ है।

मुकेश सहनी की मंशा पर सवाल

अजय निषाद ने मंत्री मुकेश सहनी की मंशा पर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के दौरान एनडीए (NDA)का हिस्सा बनने पर भाजपा ने अपने कोटे की 11 सीटें उनको दीं। इसमें से उन्होंने एक भी अपने समाज के नेताओं को नहीं दी। इस बात से सहज रूप से अंदाजा लगाया जा सकता है कि वे इस समाज के लिए क्या कुछ करना चाह रहे हैं। अब आरक्षण का रोना रो रहे हैं। ये व्यवसायी हैं और राजनीति में भी व्यवसाय करने आए हैं। बाकी सब ढोंग है।

Leave a comment

Your email address will not be published.