ससुर ने संवारी अपनी विधवा बहु कि ज़िन्दगी, पिता बन कराई दुसरे संग शादी,लोगो के लिए बने मिसाल

दोस्तो ज्यादातर महिलाएं इस बात को लेकर दुखी रहती है कि ससुराल में उनको बेटी तो दूर की बात बहु भी नहीं समझा जाता वो अधिकार से अपने ससुराल को अपना घर नही कह सकती अपनी मर्जी के मुताबिक आ -जा ,उठ बैठ और खा – पी नही सकती ।किसी भी चीज को लेकर निर्णय नही ले सकती। लेकिन ज़रूरी नहीं सभी एक जैसे हो आज हम आपको ऐसे एक परिवार के बारे में बताने वाले है जिन्होंने अपनी विधवा बहू के साथ जो किया उसके बारे में किसी ने कल्पना भी नहीं की होगी क्या है पूरा मामला जानने के लिए लेख को अंत जरुर पढ़े .

बिहार के छपरा (Chhapra) में एक ससुर ने अपनी विधवा बहू की शादी (Widow Marriage) करवाई और कन्यादान (Kanyadan) कर समाज में नयी मिसाल पेश की. वहीं, महिला के भसुर (जेठ) ने भाई की तरह रिश्ता निभाते हुए दुल्हन की विदाई की रस्म अदा की.ससुरालवालों के द्वारा उठाये गए इस कदम की हर तरफ सराहना हो रही है. मिली जानकारी के मुताबिक दिसंबर 2017 में गोला बाजार निवासी अशोक साह की बेटी चांदनी कुमारी की शादी परमानंदपुर के शिवपुर गांव के रहने वाले सुरेंद्र प्रसाद साह के बेटे चंदन कुमार के साथ हिंदू रीति-रिवाज से हुई थी. लेकिन नौ जून, 2021 को चंदन की मौत हो गयी. पति के इस दुनिया से चले जाने के गम में चांदनी उदास रहने लगी. यह देख उसके ससुरालवालों ने उसको खुश रखने की काफी कोशिश की, लेकिन ऐसा हो न सका.

बहू चांदनी की आगे की जिंदगी का ख्याल करते हुए ससुर सुरेंद्र प्रसाद साह ने उसकी शादी कराने का निर्णय लिया और वो उसके लिए लड़का खोजने में जुट गए. काफी खोजबीन के बाद राजस्थान के झुंझुनु जिला निवासी रोशन लाल के बेटे नवीन कुमार शाह के साथ चांदनी की सोनपुर मंदिर में हिंदू रीति-रिवाज से शादी संपन्न हुई. विवाह में ससुर ने बेटी की तरह अपनी बहू का कन्यादान किया.

चांदनी की शादी में उसके जेठ और बाकी ससुरालवालों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया. जेठ राजू साह ने दुल्हन बनी चांदनी को घर का सामान और उपहार देकर बहन की तरह विदा किया. चांदनी और चंदन का एक बेटा है जिसे उसके ससुर सुरेंद्र प्रसाद साह ने अपने बेटे की अमानत के रूप में रख लिया है. उन्हें पिता बन कर अपनी विधवा बहू का कन्यादान किया और उसकी विदाई कराई.ससुरालवालों के द्वारा विधवा बहू की शादी करा कर उसकी नई जिंदगी की शुरुआत कराना गांव में चर्चा का विषय बन गया है.

Leave a comment

Your email address will not be published.