स्कूल जा रही 7 साल की बच्ची को बोरी में भर रहे थे बच्चा चोर,तभी शख्स ने देख कर मचाया शोर

दोस्तों इन दिनों जिधर देखो उधर बच्चा चोरी की अफवाहे देश भर में अनियंत्रित रूप से बढ़ रही है बच्चा चोरी के संदेह में लोग भीड़ में कानून को अपने हाथ में लेकर सडको पर खूब झगडे करते है और कुछ ऐसे लोग होते है  जो बोलकर अपने आप का बचाव करने में असमर्थ होते है ऐसे में कई लोग सबसे ज्यादा हिंसक का शिकार बन जाते है बच्चा चोरी की अधिकांश सूचनाये देश के ग्रामीणों क्षेत्र से ज्यादा सुनने को मिल रही है भारत में ऐसे कई सारी जगह  है जो बच्चा चोरी को लेकर प्रभावित है आज हम बच्चा चोरी करने वाले उन चोरो के बारे में बतायेगे जो एक बच्ची को चोरी करते हुए बच्चा चोर गैंग को पकड़ लिया जानने के लिए बने रहे पोस्ट के अंत तक..

जिले के बेलीपार थाना क्षेत्र में बुधवार को बच्चा चोरी गैंग पकड़ा(child theft gang gorakhpur) गया. एक महिला अपने दो पुरुष साथियों संग सात साल की बच्ची को चोरी कर ले जा रही थी. इस बीच एक व्यक्ति की नजर उन पर पड़ गई और उसने शोर मचाना शुरू कर दिया. देखते ही देखते लोगों ने तीनों को पकड़कर पीटना शुरू कर दिया. बच्ची को इनके चंगुल से मुक्त करा लिया गया. सूचना पर पहुंची पुलिस आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है.

प्रत्यक्षदर्शी के अनुसार बेलीपार इलाके के महावीर छपरा के रहने वाले संजय प्रजापति की बेटी शिवांगी (7) स्कूल जा रही थी. इस बीच एक महिला अपने दो पुरुष साथियों के साथ बच्ची को अपने साथ ले जाने की कोशिश करने लगी. तीनों मिलकर बच्ची को बोरी में भर रहे थे. तभी वहां से गुजर रहे गांव के एक व्यक्ति की नजर उनपर पड़ गई. पब्लिक ने तीनों को पकड़ लिया. पुलिस के अनुसार पकड़े गए आरोपियों की पहचान असम के गोरेवाला गांव, थाना सियालमाड़ी जिला नवलपाड़ी निवासी मोहर अली (50), मोहर अली का बेटा हमीदुल (18) और उसकी पत्नी सकीना (40) के रूप में हुई है.

गोरखपुर में पकड़ा गया बच्चा चोरी गैंग (attempt to steal a girl child in gorakhpur) :-

पुलिस के मुताबिक तीनों अभी यहां राजघाट इलाके की अमरूद मंडी के पास रहते हैं जबकि जिस बच्ची शिवांगी को चोरी हो रही थी, वह महावीर छपरा के इंग्लिश मीडियम प्राइमरी स्कूल में कक्षा दो की छात्रा है. स्कूल से उसका घर करीब 250 मीटर की दूरी पर है. छात्रा के दो बड़े भाई सत्यम (10) और शिवम (8) हैं. शिवांगी की मां रीना देवी ने बताया उनके पति संजय प्रजापति बाहर रहकर कारपेंटर का काम करते हैं जबकि पूरा परिवार यहां महावीर छपरा स्थित गांव में रहता है. तीनों बच्चे रोजाना एक साथ ही स्कूल जाते हैं लेकिन, आज शिवांगी के तैयार होने में देर हो गई थी इसलिए उसके दोनों बड़े भाई थोड़ी देर पहले ही स्कूल के लिए निकल गए थे.

शिवांगी ने बताया कि स्कूल जाते समय रास्ते में इन लोगों ने मुझे बुलाकर पकड़ लिया. एक व्यक्ति के शोर मचाने पर लोग जुट गए और मुझे छुड़ाया. बेलीपार थाने के सब इंस्पेक्टर सतपाल सिंह ने बताया कि ग्रामीणों ने बच्चा चोरी के आरोप में 3 लोगों को पकड़ा है. उनसे पूछताछ की जा रही है. पकड़े गए आरोपियों ने अमरूद मंडी के पास रहकर कबाड़ बीनने की बात बताई है. पूछताछ के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी.

Leave a comment

Your email address will not be published.