21 साल से कम के लड़के शादी नही कर सकते पर रह सकते है लड़की के साथ क्योकि

दोस्तों जैसा कि सभी को मालूम है लड़कियों की शादी की न्‍यूनतम उम्र 18 साल और लडको की न्‍यूनतम उम्र 21 साल है .लेकिन 15 अगस्त 2020 को लाल किले में अपने भाषण के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लड़कियों की शादी की उम्र को 18 वर्ष से बढ़ाकर 21 वर्ष किए जाने का ऐलान किया था . लेकिन क्या इस प्रस्ताव् को लेकर कोई निर्णय लिया गया है .यदि निर्णय लिया गया है तो इसका समाज पर कोई गहरा प्रभाव पड़ेगा. वही लडको की शादी को लेकर पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने दिया ये ब्यान .

लड़कियों की शादी की न्‍यूनतम उम्र बढ़ाए जाने को लेकर विवाद छिड़ा हुआ है. इस बीच पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने हाल ही में एक मामले में कहा है कि 21 साल की उम्र से कम का कोई भी पुरुष शादी तो नहीं कर सकता, लेकिन वह 18 साल या उससे अधिक उम्र की महिला के साथ उसकी सहमति होने पर कपल की तरह उसके साथ रह सकता है. हाईकोर्ट का यह फैसला मई 2018 के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के संदर्भ में है, जिसमें कहा गया था कि कोई भी युवा जोड़ा शादी के बिना भी साथ रह सकता है.

हाईकोर्ट पंजाब के गुरदासपुर जिले के एक युवा जोड़े की याचिका पर सुनवाई कर रहा था. लिव इन रिले‍शनशिप में रह रहे जोड़े ने इस याचिका के जरिये सुरक्षा की मांग की है. ये दोनों ही 18 साल से अधिक उम्र के हैं. युवक 18 साल का है लेकिन हिंदू मैरिज एक्‍ट के तहत कानूनी रूप से वह 21 साल की उम्र पूरी होने तक शादी नहीं कर सकता.

इसके बाद युवा जोड़े ने पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दाखिल करके सुरक्षा की मांग की है. उनका कहना है कि उन्‍हें उनके परिवारों की ओर से जान का खतरा है. ऐसा उनकी रिलेशनशिप को लेकर है. युवा जोड़े के वकील ने कोर्ट में कहा है कि उन्‍हें डर है कि उनके परिवारवाले उनकी हत्‍या करवा देंगे.

हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान जस्टिस हरनरेश सिंह गिल ने कहा है कि सरकार की जिम्‍मेदारी है कि वह हर व्‍यक्ति की स्‍वतंत्रता और जीवन की रक्षा करे. जज ने गुरदासपुर के एसएसपी को निर्देश दिया है कि वह युवा जोड़े के आग्रह पर निर्णय लें और उनको सुरक्षा प्रदान करें.

Leave a comment

Your email address will not be published.