केमिस्ट उमेश कोल्हे की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा,शरीर में पाया 7 इंच चौड़ा और 5 इंच गहरा जख्म

दोस्तो आए दिन एक के बाद एक ह त्या कांड के मामले सामने आ रहे है ।पहले उदयपुर में कन्हैया लाल का मामला और अब अमरावती से एक ऐसा ही मामला सामने आया है जिसमे युवक की बड़ी ही निर्दयता से ह त्या कर दी गई ।जिसके बाद युवक को पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया जब पोस्टमार्टम रिपोर्ट तो हुए कई खुलासे ।इस मामले से जुड़ी पूरी खबर जानने के लिए खबर को अंत तक जरूर पढ़े ।

अमरावती हत्याकांड (Amravati Murder Case) में बड़ा खुलासा हुआ है. केमिस्ट उमेश कोल्हे की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से शरीर में लगी चोट का पता चला है.उमेश कोल्हे के शरीर में 7 इंच चौड़ा और 5 इंच गहरा जख्म पाया गया है. साथ ही उसकी खाना खाने वाली और दिमाग की नस भी कटी हुई पाई गई है. रिपोर्ट में सामने आया है कि चाकू से हमले में उनकी सांस लेना वाली नली और आंख की नस भी डैमेज हो गई थी. इसी वजह से उसकी मौत हो गई. अमरावती के श्याम चौक क्षेत्र के घंटाघर के पास 21 जून की रात को केमिस्ट उमेश की चाकू से गला रेतकर हत्या कर दी गई थी.

रात को करीब साढ़े 10 बजे उमेश अपनी दुकान बंद कर घर वापस लौट रहे थे. इसी दौरान बाइक सवार लोगों ने उनका गला रेत दिया था. अस्पताल में डॉक्टर्स ने उनको मृत घोषित कर दिया था. पुलिस ने इस बात को स्वीकर किया है कि नूपुर शर्मा के समर्थन में स्टेटस लगाने की वजह से केमिस्ट उमेश को मौत के घाट उतार दिया गया.

दिहाड़ी मजदूर हैं उमेश कोल्हे के हत्यारे

राजस्थान के उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या की तर्ज पर ही अमरावती के उमेश कोल्हे की गला रेतकर हत्या कर दी गई. पुलिस इस मामले में अब तक मास्टरमाइंड समेत 7 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है. शनिवार रात को पुलिस ने इरफान खान नाम के सातवें आरोपी को गिरफ्तार किया था. पुलिस ने केमिस्ट की हत्या मामले में जिस मुदसिर अहमद (22), शाहरुख पठान (25), अब्दुल तौफीक (24) शोएब खान (22) और अतीब राशिद (22) को गिरफ्तार किया था, ये सभी दिहाड़ी मजदूर हैं.

उमेश कोल्हे की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा

सिटी कोतवाली पुलिस थाने के एक अधिकारी का कहना है कि मास्टरमाइंड इरफान खान से इन पांच लोगों को 10-10 हजार रुपये देने का वादा कर उमेश की हत्या करवाई थी. इरफान ने इन लोगों को एक कार में सुरक्षित रूप से फरार होने में मदद करने का वादा भी किया था. लेकिन ये सभी आरोपी अब पुलिस की गिरफ्त में हैं. अमरावती में दवा की दुकान चलाने वाले उमेश कोल्हे ने नुपुर शर्मा के समर्थन में कुछ व्हाट्सएप ग्रुप में एक पोस्ट कथित तौर पर शेयर किया था. साझा किया था. उमेश ने गलती से यह पोस्ट एक ऐसे व्हाट्सएप ग्रुप में भेज दिया था, जिसमें दूसरे समुदाय के सदस्य भी थे. अधिकारी के मुताबिक इरफान ने उमेश की हत्या की कथित तौर पर साजिश रची. उमेश की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कई जगहों पर चोट लगने की बात सामने आई है.

Leave a comment

Your email address will not be published.