श्रीलंका के बाद अब ये देश हो जायेगे कंगाल,भारत के भी …

दोस्तो आजकल जैसे हालात श्री लंका में है ये तो सभी जानते है ।देश की खराब अर्थ व्यवस्था की वजह से श्री लंका के लोग सड़कों पर उतर आए ।आपको बता दे जिन हालातो का सामना इन दिनो श्री लंका कर रहा है ।बहुत जल्दी ही ठीक ऐसे ही हालात इन देशों के भी होने वाले है एक रिपोर्ट द्वारा इस बात का खुलासा हो गया है ।आखिर कौन से वो देश है जो श्री लंका की तरह डूबने वाले है जानने के लिए खबर को अंत तक जरूर पढ़े।

दुनिया के कई देशों की अर्थव्यवस्था डूबने के कगार पर है. चीन के कर्ज (Chinese Loan) ने कई देशों की अर्थव्यवस्था को बुरी तरह से अपने शिकंजे में दबोच लिया है. ऐसे में वहां की स्थिति भी श्रीलंका जैसी दुखद और गंभीर हो सकती है.ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक (Bloomberg Report) दुनिया के कई उभरते बाजारों और विकासशील देशों की इकॉनमी पर बड़ा खतरा मंडरा रहा है. इसकी वजह कुछ और नहीं बल्कि इन देशों का विदेशी कर्ज न चुका पाना है. इसी कर्ज (Loan) की वजह से श्रीलंका (Sri Lanka) तो लंबे समय से आर्थिक अस्थिरता से ग्रस्त रहा है.

अरबों-खरबों रुपयों की देनदारी के संकट से गुजर रहे देशों में श्रीलंका पहला ऐसा देश था जिसने इस साल 2022 में अपने विदेशी बांडधारकों का भुगतान बंद कर दिया था. ये फैसला इसलिए हुआ होगा क्योंकि यहां के राजनेताओं ने देश में खाने पीने के सामान की कमी के साथ लगातार गहरा रहे ईंधन के संकट (Fuel Crisis) का अंदाजा लगा लिया होगा. इस वजह से श्रीलंका के लोगों में देश की सरकार के प्रति आक्रोश लगातार बढ़ता गया.

इन देशों पर संकट के बादल

अद्रश्य खतरे का सामना कर रहे ये वो देश हैं जिन्हें ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट में ऐसा डिफाल्टर माना गया है जो अपना कर्ज चुकाने की स्थिति में नहीं हैं. इस सूची में इन देशों में अल सल्वाडोर (El Salvador), घाना (Ghana), मिस्र (Egypt), ट्यूनीशिया (Tunisia), केन्या (Kenya) और पाकिस्तान (Pakistan) जैसे कई देश शामिल है.

रूस-यूक्रेन युद्ध के बाद आई तेजी

रूस द्वारा यूक्रेन पर हमला करने के बाद से अपना कर्ज न चुका पाने वाले देशों की संख्या बढ़ी है जो नॉन पेमेंट (Non Payment) की समस्या से नहीं उबर सके हैं. वर्ल्ड बैंक (World Bank)के चीफ इकोनॉमिस्ट कारमेन रेनहार्ट और इलियट मैनेजमेंट पोर्टफोलियो जैसी संस्था से जुड़े लोगों ने भी ऐसे हालातों पर चिंता जताई है.

चीन के कर्ज में दबे कई देश

हालांकि इनमें से कई देश चीन के भारी कर्ज के बोझ तले दबे हैं. कुछ समय पहले अमेरिका ने कई देशों को चीन के सस्‍ते कर्ज के जाल में न फंसने की चेतावनी दी थी. तब अमेरिका ने कहा था कि मौजूदा समय में श्रीलंका और पाकिस्‍तान का संकट समूची दुनिया के सामने है. ये दोनों ही चीन के कर्ज के जाल में फंसे हैं. इसके अलावा ये दोनों पूरे विश्‍व के लिए एक साफ संकेत है कि इसका असर किस तरह बुरा हो सकता है. श्रीलंका की वर्तमान  स्थिति को देखते हुए ब्लूमबर्ग की हालिया रिपोर्ट उन देशों की ओर इशारा कर रही है जहां के हालात बद से बदतर हो सकते हैं.

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.