25 साल की साधना के बाद लड़की पर आया जैन मुनि का दिल,करना चाहते है शादी

दोस्तो जब कोई साधना में लीन हो जाता है तो वो सांसारिक मोह माया को त्याग ईश्वर की भक्ति में खो जाता है ।ऐसे तपस्वी की साधना कोई भंग नहीं कर सकता । लेकिन एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमे एक साध्वी ने एक मुनि की 25 साल की साधना भंग कर दी है और उस मुनि का उस साध्वी पर दिल आ गया है और वो सालो की तपस्या को भूल शादी के सपने संजोने लगे है ।जिसने सभी को हैरत में डाल दिया है ।आखिर क्या है पूरा मामला जानने के लिए खबर को अंत तक जरूर पढ़े।

जैन समाज के एक मुनि की साधना 25 साल टूट गई है। अब ये साधु-संत वाला जीवन छोड़कर अपनी गृहस्थी बसाएंगे। इसके लिए लड़की भी चुन ली गई है। दुल्हन एक साध्वी बनेगी। ये भी अपना आश्रम छोड़कर जैन मुनि के साथ जिंदगी की नई शुरुआत करेंगी। दोनों का पूरा मामला पुलिस थाना पहुंचने के बाद उजागर हुआ है।

25 साल पहले सांसारिक मोह माया का त्याग


बता दें कि मध्य प्रदेश के दमोह में जैन ​तीर्थ बेलाग्राम है। यहां जैन मुनि सुद्धांत सागर रहे थे। इन्होंने 25 साल पहले सांसारिक मोह माया त्याग कर दीक्षा ली और बेलाग्राम में सिद्धांत सागर महाराज की देखरेख में साधना कर रहे थे। अब सुद्धांत सागर शादी की जिद पर अड़े है।

रात को हिंडोरिया पुलिस थाने पहुंचे

मंगलवार रात को दमोह जिले के हिंडोरिया पुलिस थाने पहुंचे जैन मुनि सुद्धांत सागर व साध्वी प्रज्ञा ने आश्रम के लोगों पर मारपीट समेत कई आरोप लगाए हैं। हालांकि आश्रम के लोगों ने मारपीट से इनकार किया है। सुद्धांत सागर के आरोप हैं कि ‘बेलाग्राम आश्रम में प्रज्ञा दीदी नाम की महिला एक सप्ताह पहले रहने आई थी। हम दोनों के बीच बातचीत होने लगी थी।

फोन पर बात करने से शक


मंगलवार देर शाम प्रज्ञा बड़े मंदिर में बैठकर फोन पर किसी से बात कर रही थीं। आश्रम के प्रमुख सिद्धांत सागर को शक हुआ तो उन्होंने प्रज्ञा को आश्रम छोड़कर जाने के लिए कहा। प्रज्ञा के साथ मारपीट की गई। जब मैंने मारपीट से आचार्य को रोकने की कोशिश की तो उन पर भी हाथ उठायाा गया।

जननी एक्सप्रेस एम्बुलेंस से लिफ्ट लेकर पहुंचे

जैन मुनि सुद्धांत सागर ने पुलिस को यह भी बताया कि मारपीट के अलावा उनके पिच्छी और कमंडल भी छीन लिए। आश्रम में अन्य लोगों से भी पिटवाई करवाई गई। वहां से जैसे-तैसे भागकर साध्वी प्रज्ञा के साथ पुलिस थाने पहुंचे। दोनों ने रास्ते में जननी एक्सप्रेस एम्बुलेंस से लिफ्ट ली। फिर पुलिस थाने में सुद्धांत सागर ने कपड़े पहनकर फिर से गृहस्थ जीवन ग्रहण कर लिया।

प्रज्ञा से शादी की वजह


सुद्धांत सागर और प्रज्ञा का आरोप है कि आश्रम में उनके रिश्ते को गलत संबंधों के रूप में जोड़कर देखा जा रहा है। सुद्धांत सागर कहते हैं कि बेवजह उनकी काफी बदनामी की गई है। इसलिए अब तो वे गृहस्थ जीवन स्वीकार कर प्रज्ञा से शादी करके आगे का जीवन उसी के साथ बिताएंगे।

बहन बोलीं-नहीं हुई मारपीट

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पूरे मामले में आश्रम की ओर से सिद्धांत सागर की बहन का बयान सामने आया है। उन्होंने सुद्धांत सागर के साथ मारपीट की घटना से इनकार किया है। साथ ही आरोप लगाया है कि सुद्धांत सागर व प्रज्ञा के बीच तीन साल से संदिग्ध गतिविधियां चल रही थीं। प्रज्ञा मूलरूप से आगरा यूपी की रहने वाली है।

प्रज्ञा ने भी लगाए आश्रम पर आरोप

पुलिस थाने में सुद्धांत सागर के साथ पहुंची प्रज्ञा ने भी आश्रम के लोगों पर कई तरह के आरोप लगाए हैं। उसका कहना था कि वहां मौजूद कुछ माताएं व सेवक महिलाएं उसे प्रताड़ित कर रही थी। खाना तक नहीं दिया जा रहा था। साथ ही उन पर मुनि सागर के साथ गलत संबंधों के आरोप लगाए जा रहे थे। उसकी मुनि सागर से फोन पर बात जरूर होती थी, मगर उनके बीच कुछ गलत नहीं था।

Leave a comment

Your email address will not be published.