पुराने प्रेमी को छोड़कर लड़की को हुआ अपने मैनेज़र से प्यार, लव ट्रायंगल का हुआ ये अंजाम

दोस्तो जब किसी को प्यार होता है तो सुना है वो एक दूसरे के बिना रह नहीं पाते लेकिन यदि किसी वजह से प्रेमियों के अलग होना पड़े और उस समय उन्हे किसी और से प्यार हो जाए तो ये प्यार कैसा । आज के समय में ऐसे ही प्यार देखने को मिलते प्रेमियों को एक समय पर दो तीन लोगो से प्यार हो सकता है। आज हम आपको ऐसे ही एक मामले के बारे में बताने वाले है जिसमे प्रेमी को छोड़ लड़की को दूसरे से प्यार करना पड़ा भारी ।क्या है पूरा मामला जानने के लिए खबर को अंत तक जरूर पढ़े।

मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले में हुए अनिभा मर्डर केस में चौंकाने वाली बात सामने आई है. इस मामले में पुलिस अब लव-ट्रायंगल की भी जांच कर रही है. मृतिका को किसी प्राइवेट कंपनी के मैनेजर से प्यार हो गया था. इस बात से उसका बॉयफ्रेंड और फर्जी पत्रकार बौखला गया था. कयास लगाए जा रहे हैं कि इसी बात से नाराज बॉयफ्रेंड ने गर्लफ्रेंड को गोली मार दी. इस बात की भी आशंका जताई जा रही है कि लड़की को मारने के बाद आरोपी लड़का नदी में कूद गया हो. क्योंकि, हत्या के ठीक एक दिन बाद बॉयफ्रेंड का शव नर्मदा में तिलवाराघाट पर मिला. पुलिस इस चौंकाने वाली हत्या के हर पहलू की जांच कर रही है.

कथित हत्या-आत्महत्या की यह घटना 23 जुलाई को जबलपुर के बरेला थाना अंतर्गत मंगेली के भटौली पुल पर घटी थी. जानकारी के मुताबिक शाम करीब 6 बजे गौर चौकी पुलिस गश्त के लिए भटौली पहुंची थी. यहां नर्मदा पुल पर पुलिस को काली फिल्म लगी स्विफ्ट कार खड़ी दिखी. पुलिस टीम ने संदेह के आधार पर कार की जांच की तो उनके होश उड़ गए. कार की पिछली सीट पर एक लड़की की लाश पड़ी थी. जहां आजतक 24×7 नाम की माइक आईडी रखी थी. लड़की के बगल में कार की चाबी रखी थी. कार के ऊपर एक मोबाइल भी रखा मिला जो संभवतः कार सवार युवक का माना जा रहा है. सामने की सीट पर एक पिस्टल पड़ी थी, लेकिन कार में कोई युवक नहीं मिला.

तीन दिन से घर से गायब थी लड़की

घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस अधिकारी, डॉग स्क्वायड और एसएफएल की टीम भी मौके पर पहुंच गई. पुलिस ने जब पड़ताल शुरू की तो पता चला स्विफ्ट कार क्रमांक एमपी 20सीजे 9414 रांझी निवासी विजय कुमार लाल के नाम पर दर्ज है. पुलिस ने जब विजय कुमार से पूछताछ की तो उसने बताया कि 23 जुलाई की सुबह करीब 11 बजे बादल पटेल उससे कार लेकर गया था. वहीं युवती की पहचान रामपुर निवासी अनिभा के रूप में हुई. वह तीन दिनों से घर से गायब थी. बताया जाता है कि बादल पटेल के साथ अनिभा अक्सर घूमती रहती थी.

फर्जी पत्रकार गैंग का सदस्य था बादल


बादल के संबंध में जानकारी मिली है कि वह अवैध वसूली और ब्लैकमेलिंग करने वाली फर्जी पत्रकार गैंग का सदस्य था. बादल के खिलाफ पिछले साल एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने कार्रवाई भी की थी और 6 ब्लैकमेलर को जेल भी भेजा था. जेल से रिहा होने के बाद यह गैंग दोबारा सक्रिय हो गई. बताया जाता है कि अनिभा का पहला बॉयफ्रेंड साल 2014 में शादी कर चुका था. दोनों की दोस्ती कोचिंग में पढ़ाई के दौरान हुई थी. लड़की का मैनेजर प्रेमी भी शादीशुदा निकला. दरअसल, बादल के जेल जाने के दौरान लड़की की दोस्ती आईटी पार्क स्थित एक कंपनी के मैनेजर से हो गई. दोनों की दोस्ती प्यार में बदल गई. जेल से छूटने के बाद  जब बादल को यह बात पता चली तो उसने मैनेजर को पीटा भी. इसकी शिकायत बाकायदा तिलवारा घाट थाने में दर्ज है. इसके कुछ दिन बाद कंपनी ने मैनेजर का ट्रांसफर कहीं और कर दिया.

Leave a comment

Your email address will not be published.