भैंस गुम होने के दुःख सह ना पायी युवती, फांसी लगा कर की खुदखुशी

दोस्तों आप लोग इस बात से अवगत ही होगे कि हमारे सामने आये दिन कोई न कोई खबर आती रहती है किसी न किसी कारण से मौ”त को गले लगा लेते है प्यार में पागल होकर जान देने के मामले चिंता का विषय हैं जिसे जान कर आप सोच में पड़ जायेगे क्या ऐसा भी हो सकता है जी हां आजकल कई तरह की चौकाने वाली खबरें सामने आती रहती हैं। अब हाल ही में जो मामला सामने आया है उस मामले को जानने के बाद आपके होश उड़ जाएंगे। एक युवती ने अपनी भैंस के गुम हो जाने के दुःख में अपनी जान दे दी इसके बारे में आगे जानने के अतं तक बने रहिये

दरअसल ये मामला उत्तर प्रदेश के जालौन जिले के कुरोना गांव में चौंका देनी वाली घटना सामने आई है. जहां एक युवती ने  उसकी भैंस गुम हो जाने के दुःख में अपनी जान दे दी। बताया जा रहा है कि भैंसें गुम होने के बाद से ही युवती परेशान रहने लगी थी.जी हाँ, जिसे सुनकर आपको यकीन तो नहीं हो रहा होगा लेकिन यह सच है। इस लड़की का अपनी भैंस के साथ इतना लगाव था कि जब वह घर नहीं लौटी तो वह बुरी तरह परेशान हो गई वहीँ उसके बाद उसने उसे ढूंढने की लाख कोशिशें कीं लेकिन जब वह नहीं मिली तो वह परेशान रहने लगी।

आपकी जाकारी के लिये बता दे कि काफी दिनों तक परेशान रहने के बाद आखिर में उसने अपने घर में फांसी लगा ली। वहीँ परिजन ये देख हैरान रह गए और इलाज के लिए अस्पताल भी ले जाया गया लेकिन उसकी मौत हो गई। कुरोना के रहने वाले बैनी केवट ने तीन भैंसें पाली हुई थीं और इनकी देखभाल बेटी रजनी किया करती थी।भैंसों के चारे से लेकर पानी और उनकी हर जरूरत का ख्याल रखने का काम रजनी करती थी। वहीँ रजनी के पिता ने बताया कि 8 जुलाई को भैंसें चरने के लिए छोड़ी थीं लेकिन वे लौटकर नहीं आईं। भैंसों के गुम होने की वजह से रजनी बहुत दुखी रहने लगी और भैंस न मिलने से रजनी ने फांसी लगा ली। उसके बाद उसे इलाज के लिए उरई से झांसी मेडिकल कॉलेज ले जाया गया लेकिन इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.