आखिरकार प्रधानमंत्री ने भी दिया इस्तीफा,48 घण्टे में 45 मंत्रियों ने छोड़ा साथ

दोस्तो आए दिन कोई न कोई नया मामला सामने आ ही जाता है जो बहुत चिंताजनक होता है । कभी महामारी तो कभी दो देशों के बीच महायुद्ध और कभी मंदी के वजह से दुनिया पर आने वाला संकट ऐसे में खबर सामने आई है कि देश में बहुत बड़ा राजनीतिक संकट आ गया है । मात्र दो दिन के अंदर एक के बाद एक मंत्री ने छोड़ा अपना पद यही नही इसके साथ ही देश के प्रधानमंत्री के भी इस्तीफा देने की बात सामने आई है आखिर ऐसा क्या चल रहा है देश में जो ऐसा संकट आन पड़ा मंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री को भी पड़ना पड़ा इस्तीफ़ा जानने के लिए खबर को अंत तक जरूर पढ़े।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है यूके की मीडिया में इस बात की जानकारी दी है वह स्कैंडल और तमाम आरोपों का सामना कर रहे हैं हालांकि जॉनसन कंजर्वेटिव पार्टी के नेता के पद से हटने के लिए तैयार हो गए हैं लेकिन नए नेता के चुनाव तक वह पद पर बने रहेंगे उनकी सरकार में मंगलवार बाद से अब तक 50 से अधिक इस्तीफे दिए जा चुके हैं यहां तक कि वेल्श से सेक्रेटरी सिमन हर्ट ने भी पद से इस्तीफा दे दिया है महज मंत्रियों की बात करें तो 48 घंटे में ही 45 मंत्री अपना पद छोड़ चुके हैं जिनमें वित्त मंत्री ऋषि सुनक और स्वास्थ्य मंत्री साजिद जावेद शामिल है दरअसल क्रिस पिंचर इस मामले को ठीक से नहीं संभालने के चलते जॉनसन की कंजर्वेटिव पार्टी के अधिकतर लोग उनके खिलाफ हो गए हैं

सांसद क्रिस पिंचर को जॉनसन ने डेप्युटी व्हिप चीफ के तौर पर नियुक्त किया था जबकि पिंचर के खिलाफ ऐसी शिकायत थी कि उन्होंने एक गे बार में दो लड़कों के साथ यौन शोषण किया है .खुद इस्तीफा देने के लिए सहमत होने से पहले बोरिस जॉनसन ने अपने राइट हैंड माने जाने वाले कम्युनिटी सेक्रेटरी माइकल गोव को कैबिनेट से बर्खास्त कर दिया था . वो गोव ही कैबिनेट के पहले ऐसे सदस्य थे जिन्होंने जॉनसन से कहा था कंजर्वेटिव पार्टी और देश की भलाई के लिए उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए. सरकार कोसबसे पहला झटका मंगलवार को तब लगा जब वित्त मंत्री ऋषि सुनक और स्वास्थ्य मंत्री साजिद जावेद ने इस्तीफा दिया था.

जॉनसन के नेतृत्व पर मंत्रियों को नहीं भरोसा

उन्होंने कहा है कि इन्हें अब प्रधानमंत्री के नेतृत्व पर भरोसा नहीं है और वे घोटालों से घिरी सरकार के लिए काम नहीं कर सकते .साजिद-वाजिद और ऋषि सुनक ने कुछ ही मिनट के अंतराल पर ट्विटर पर अपना इस्तीफा साझा किया था सरकार ऐसे समय में संकट में पड़ी है जब एक पूर्व नौकरशाह ने हाल में ही निलंबित सांसद क्रिस पिंचर के खिलाफ आरोपों से निपटने के डाउनिंग स्ट्रीट के तरीके को लेकर टिप्पणी की थी जिससे विवाद खड़ा हो गया क्रिस पर आरोप है कि उन्होंने साल 2018 में गे बार में दो लड़कों को गलत तरीके से छुआ था और इस बात की जानकारी जॉनसन को 2019 में ही मिल गई थी बावजूद इसके उन्होंने पिंचर को बड़े सरकारी पद पर नियुक्त कर दिया इस मामले में 10 डाउनिंग स्ट्रीट ने भी अपने बयान बदले हैं उसने कहा है कि जॉनसन को साल 2019 में ही उन शोषण मामले की जानकारी के बारे में बता दिया गया था जिसमें पिंचर भी शामिल है इसमें वह पुराने दावे भी झूठे पड़ गए जिसमें पीएम कार्यालय ने कहा था कि प्रधानमंत्री को इन विशिष्ट आरोपों की जानकारी नहीं थी

Leave a comment

Your email address will not be published.